झारखंड सरकार ने धन शोधन मामले में गिरफ्तार खनन सचिव पूजा सिंघल को निलंबित किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 12, 2022   17:34
झारखंड सरकार ने धन शोधन मामले में गिरफ्तार खनन सचिव पूजा सिंघल को निलंबित किया
ani

धन शोधन के संदिग्ध मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद झारखंड की खनन सचिव पूजा सिंघल को राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को निलंबित कर दिया। एक अधिकारी ने इस आशय की जानकारी दी।

रांची। धन शोधन के संदिग्ध मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद झारखंड की खनन सचिव पूजा सिंघल को राज्य सरकार ने बृहस्पतिवार को निलंबित कर दिया। एक अधिकारी ने इस आशय की जानकारी दी। गौरतलब है कि ईडी ने सिंघल को गिरफ्तार करने के बाद पूछताछ के लिए मंगलवार और बुधवार दोनों दिन उन्हें प्रभाग कुमार शर्मा की विशेष पीएमएलए अदालत में पेश किया था। सिंघल को पांच दिनों के लिए ईडी की हिरासत में भेजे जाने के बाद बुधवार की रात उन्हें होटवार स्थित बिरसा मुंडा केन्द्रीय कारागार भेज दिया गया।

इसे भी पढ़ें: मेघालय में नेहू से संबद्ध महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए सीयूईटी जरूरी नहीं : धमेंद्र प्रधान

अधिकारी ने कहा, ‘‘सरकार ने पूजा सिंघल को अखिल भारतीय सेवा (अनुशासन और अपील नियम, 1969) प्रावधानों के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।’’ सिंघल की गिरफ्तारी पर बुधवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा था कि राज्य सरकार ‘‘इस संबंध में उचित कानूनी कदम उठाएगी।’’

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस नेता पटोले की पीठ में छुरा घोंपने वाली टिप्पणी को अजीत पवार ने बताया हास्यास्पद

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि अनियमितताएं ‘‘भाजपा के शासनकाल में हुई हैं और उनकी जांच की जानी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा के शासनकाल में 2017 में उन्हें क्लिन चिट मिली थी। उन्हें क्लिन चिट देने वालों की जांच होनी चाहिए। आपने (भाजपा) उनसे गलती करायी और आप ही ने उन्हें क्लिन चिट भी दिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...