बग्गा के पिता का बड़ा खुलासा, तजिंदर को AAP में शामिल करना चाहते थे केजरीवाल

बग्गा के पिता का बड़ा खुलासा, तजिंदर को AAP में शामिल करना चाहते थे केजरीवाल
ANI

तजिंदर बग्गा ने केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि देश बाबा साहेब के संविधान से चलेगा, केजरीवाल के क़ानून से नहीं। बग्गा ने दावा किया कि केजरीवाल ने चुनाव में कहा था कि वे गुरु ग्रंथ साहब जी की बेअदबी करने वालों को 24 घंटे में जेल भेजेंगे लेकिन उन्होंने पुलिसवालों का प्रमोशन कर दिया जिन्होंने बेअदबी करने वालों को बचाया था।

पंजाब पुलिस द्वारा भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी को लेकर लगातार राजनीति हो रही है। दूसरी ओर तजिंदर पाल सिंह बग्गा भी अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी पर भी जबरदस्त तरीके से निशाना साथ रहे हैं। एक बार फिर से तजिंदर बग्गा ने केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि देश बाबा साहेब के संविधान से चलेगा, केजरीवाल के क़ानून से नहीं। बग्गा ने दावा किया कि केजरीवाल ने चुनाव में कहा था कि वे गुरु ग्रंथ साहब जी की बेअदबी करने वालों को 24 घंटे में जेल भेजेंगे लेकिन उन्होंने पुलिसवालों का प्रमोशन कर दिया जिन्होंने बेअदबी करने वालों को बचाया था।

इसे भी पढ़ें: बग्गा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, मोहाली कोर्ट ने जारी किया वारंट, पंजाब पुलिस को दिया गिरफ्तार कर पेश करने का आदेश

बग्गा ने आगे कहा कि आप FIR और पुलिस का गलत इस्तेमाल कर सोचते हैं कि हमारी आवाज बंद कर देंगे और गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी करने वालों को बचा लेंगे तो मैं आपसे कहता हूं कि ये सवाल आपसे तब तक पूछेंगे जब तक बेअदबी करने वालों को जेल नहीं पहुंचा देते। उन्होंने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय और अल्पसंख्यक आयोग को धन्यवाद हुए कहा कि इन्होंने आज दिखाया कि कानून अभी भी इस देश में काम करता है। बग्गा ने कहा कि अल्पसंख्यक समिति ने मुझे मेरी पगड़ी नहीं पहनने देने के लिए पंजाब सरकार को नोटिस भेजा। सिखों में हम पगड़ी के बिना बाहर नहीं जा सकते।

पिता का बड़ा खुलासा

बग्गा के पिता प्रीतपाल सिंह बग्गा ने कहा कि हमें खुशी है कि पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने तजिंदर के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि अरविंद केजरीवाल तजिंदर से डरते हैं क्योंकि वह उनके गलत कामों को उजागर कर रहे हैं। उसने तजिंदर को आप में शामिल होने के लिए मनाने की भी कोशिश की लेकिन वह शामिल नहीं हुआ। आपको बता दें कि  पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने शनिवार रात निर्देश दिया कि तेजिंदर पाल सिंह बग्गा के खिलाफ कोई दंडात्मक कदम न उठाया जाए। इससे पहले दिल्ली भाजपा के नेता ने मोहाली की एक अदालत द्वारा दिन में जारी गिरफ्तारी वारंट पर रोक लगाने की मांग को लेकर उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।