चावल खरीद के मुद्दे पर KCR का दिल्ली में हल्ला बोल, मंच पर साथ दिखे किसान नेता राकेश टिकैत

KCR
अभिनय आकाश । Apr 11, 2022 12:54PM
दिल्ली में तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा कि तेलंगाना अपना हक मांगता है। मैं प्रधानमंत्री जी से कहना चाहता हूं कि नई कृषि नीति बनाएं और हम उसमें भी योगदान देंगे। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो आपको हटा दिया जाएगा और नई सरकार नई एकीकृत कृषि नीति बनाएगी।

तेलंगाना में चावल खरीद के मुद्दे को लेकर राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति के मुखिया और सूबे के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव आद दिल्ली में केंद्र सरकार के खिलाफ धरना देते नजर आए। ये धरना प्रदर्शन तेलंगाना भवन में हो रहा है। इस प्रदर्शन के दौरान एक खास बात ये दिखी कि उनके साथ मंच पर किसान नेता राकेश टिकैत भी नजर आए। इसके साथी ही टीआरएस के सभी बड़े लीडर्स भी मौजूद रहे। टीआरएस का आरोप है कि केंद्र सरकार किसानों के साथ धोखा कर रही है और कॉरपोरेट हितों का ख्याल रख रही है। 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश सुशासन और विकास कार्यों की रिपोर्ट लॉन्च, CM शिवराज बोले- 15 सालों में बीमारू राज्य से निकलकर विकासशील राज्य बना MP

दिल्ली में तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा कि तेलंगाना अपना हक मांगता है। मैं प्रधानमंत्री जी से कहना चाहता हूं कि नई कृषि नीति बनाएं और हम उसमें भी योगदान देंगे। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो आपको हटा दिया जाएगा और नई सरकार नई एकीकृत कृषि नीति बनाएगी। केंद्र तेलंगाना के किसानों से धान नहीं खरीद रहा है। उसी पर बोलते हुए तेलंगाना के गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली ने सरकार पर किसानों को परेशान करने और उनके साथ अन्याय करने का आरोप लगाया। उन्होंने प्रधानमंत्री से राज्य से फसल खरीदने की भी अपील की।

इसे भी पढ़ें: निराश्रित गोवंश संरक्षण के लिए गो-सफारी बनाएगी योगी सरकार, किसानों को मिलेगी राहत

भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत भी दिल्ली में टीआरएस के सांसदों, एमएलसी और विधायकों सहित निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन में शामिल हो गए हैं। धरना स्थल की तस्वीरों में बड़ी संख्या में लोगों को मंच के सामने इकट्ठा होते और केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाते देखा गया। एमएलसी के कविता ने कहा कि तेलंगाना की मांग है कि एक खरीद नीति रहे। एक देश में एक खरीद नीति होनी चाहिए। पहले छत्तीसगढ़ से भी ये मांग आई थी किसान की मदद की जाए न कि किसान को बर्बाद किया जाए। राकेश टिकैत भी यहां पहुंचे हैं, उन्होंने कृषि मुद्दों पर केसीआर के साथ बातचीत की है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़