एसपी से मिले विधायक विशाल नैहरिया, पत्नी के आरोप पर रखा अपना पक्ष

एसपी से मिले विधायक विशाल नैहरिया, पत्नी के आरोप पर रखा अपना पक्ष

पुलिस को दी शिकायत में विधायक की पत्नी ओशिन शर्मा ने आरोप लगाया है कि शादी से पहले और शादी के बाद भी विधायक नैहरिया उनके साथ मारपीट कर रहे थे। उनके पति राजनीतिक रूप से प्रभावशाली हैं, इसलिए उनको अपनी सुरक्षा का खतरा है।

धर्मशाला। अपनी पत्नी से चल रहे परिवारिक विवाद के चलते विवादों में घिरे धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया ने आज कांगड़ा के एसपी विमुक्त रंजन से मिलकर अपना पक्ष रखा। आम तौर पर पुलिस थाना में ही ऐसे मामलों की पूछताछ होती है लेकिन नैहरिया की पत्नी ओशिन शर्मा ने कांगड़ा के एसपी को ही शिकायत दी है। इसी के चलते नैहरिया भी एसपी ऑफिस भी आये। 

इसे भी पढ़ें: शान्ता कुमार ने कहा- आपातकाल भारतीय इतिहास की सर्वाधिक काली अवधि

एसपी कांगड़ा से मिलकर नैहरिया ने बताया कि उन दोनों की शादी से पहले से ही दोस्ती थी। अब दोस्ती वैवाहिक बंधन में गई है। शादी के कुछ दिन बाद से ही उनकी पत्नी ओशिन की ओर से परिवार व उन पर कई तरह से मानसिक दवाब बनाने शुरू कर दिए थे। यह हमारा परिवारिक मामला था, इसलिए उन्होंने मामले को घर की दहलीज में अंदर रखकर की सौहार्दपूर्ण तरीके से निपटाने व पत्नी को समझाने के लगातार प्रयास किए। उन्होंने अपने पद की गरीमा को समझते हुए और सामाजिक जिम्मेदारी को जानते हुए इस बात को घर तक ही सीमित रखना उचित समझा। पत्नी द्वारा परिवार पर मानसिक दवाब को घर में ही शांत करने का भरपूर प्रयास किया। वहीं वह अब भी चाहते हैं कि घर की बातें घर में ही सुलझ जाएं और उसे समाजिक और राजनीतिक तूल न दिया जाए।

इसे भी पढ़ें: बीजेपी विधायक पर HPAS अधिकारी पत्नी ने लगाया शारीरिक और मानसिक यातना देने का आरोप

दरअसल विधायक विशाल नैहरिया की पत्नी जो कि हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं व धर्मशाला में ही डीआरडीए में तैनात हैं ने बाकायदा पुलिस में शिकायत दी है कि उनके पति नैहरिया उनके साथ मापरपीट करते हैं। अपने साथ हो रहे अमानवीय बर्ताव मारपीट के बाद एक वीडियो भी बनाया है। वीडियो में पत्नी मारपीट के जख्म दिखाकर विधायक पर आरोप लगा रही हैं। बताया जा रहा है कि विधायक नैहरिया व महिला अधिकारी की शादी तो हुई लेकिन उनका पारिवारिक रिश्ता ठीक नही चल रहा विधायक की पत्नी का साफ तौर पर आरोप है कि उनका ओर विधायक के कालेज बीच मे कालेज के  समय से प्रेम सम्बंध रहे हैं लेकिन उस दौरान भी नैहरिया मेरे साथ मारपीट करते थे और इसी वजह से मैंने उनके साथ रिश्ता तोड़ दिया था लेकिन जब वे विधायक बने तो 2019 में वे फिर मेरे पास आए और फिर मुझे अपनी बातों के विश्वास में लिया और फिर से हमारा रिश्ता आगे बढ़ा

महिला अधिकारी ने बताया कि चंडीगढ़ में हम एक होटल में रुके थे शादी से पहले उस दौरान में विधायक ने मेरे साथ बहुत मारपीट की उसके बाद मुझे इमोशनल ब्लैकमेल किया और मैं फिर मांन गई उसके बाद हमने कोर्ट मैरिज भी की विधायक ने मुझे अपना प्यार साबित करने के लिए कोर्ट मैरिज की शादी के बाद से ही मेरे साथ मार पीट जारी है और मुझे मैंटली हरास किया जा रहा है मेरे ओर मेरे परिवार को जान का खतरा भी है क्योंकि विधायक हमेशा मुझे अपने आप को कुछ करने की धमकियां देते रहते है और कई बार अपने आप को बोतल से या अन्य हथियारों से मार चुके है महिला अधिकारी ने बताया कि इस बाबत मैने पुलिस में भी शिकायत दे दी है।

इसे भी पढ़ें: 'मेरा पति मुझे पीटता है, मुझे उससे बचाओ': फरियाद लेकर थाने पहुंचीं धर्मशाला विधायक की पत्नी

पुलिस को दी शिकायत में विधायक की पत्नी ओशिन शर्मा ने आरोप लगाया है कि शादी से पहले और शादी के बाद भी विधायक नैहरिया उनके साथ मारपीट कर रहे थे। उनके पति राजनीतिक रूप से प्रभावशाली हैं, इसलिए उनको अपनी सुरक्षा का खतरा है। उन्होंने शिकायत पत्र में पुलिस से सुरक्षा की मांग की है। कांगडा के पुलिस अधीक्षक विमुक्त रंजन ने विधायक नैहरिया की पत्नी की ओर से उनके पति के खिलाफ शिकायत पुलिस को मिली है। एसपी ने कहा कि विधायक नैहरिया की पत्नी ने मारपीट की शिकायत की है। पुलिस से सुरक्षा की मांग भी की है। विधायक नैहरिया और उनकी पत्नी की शादी दो माह पहले हुई थी। शादी से पहले पत्नी जिला कांगडा के नगरोटा सूरियां ब्लाक में बीडीओ के पद पर रह चुकी हैं। वर्तमान में वह धर्मशाला में बतौर एचएएस पद पर सेवाएं दे रही है। हालांकि, इस संबंध में विधायक से भी बार-बार संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन उनका फोन स्विच आफ था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।