'5 दशकों तक देश को बेदर्दी और बेशर्मी से लूटने के कर्ज तले दबी हुई है कांग्रेस', नकवी बोले- चिंतन करें पार्टी

'5 दशकों तक देश को बेदर्दी और बेशर्मी से लूटने के कर्ज तले दबी हुई है कांग्रेस', नकवी बोले- चिंतन करें पार्टी
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि 5 दशकों तक कांग्रेस ने देश को जिस बेदर्दी और बेशर्मी के साथ लूटा है, उस कर्ज़ से कांग्रेस दबी हुई है। सोनिया जी ने सही कहा कि उस कर्ज़ को उतारने का वक़्त है। चिंतन करें और इस बात को महसूस करें कि कितना नुकसान दशकों तक कांग्रेस सरकारों ने किया।

नयी दिल्ली। केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जिस तरह देश को लूटा है, उस कर्ज तले दबी हुई है और सोनिया गांधी ने सही कहा कि उस कर्ज़ को उतारने का वक़्त है। दरअसल, कांग्रेस के उदयपुर में होने वाले चिंतन शिविर से पहले सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई थी। जिसमें कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा ने कहा था कि पार्टी का कर्ज चुकाने का वक्त आ गया है। 

इसे भी पढ़ें: आम आदमी की छवि पेश करेगी कांग्रेस, राहुल समेत 50 से ज्यादा नेता ट्रेन से जाएंगे उदयपुर, चिंतन शिविर में होंगे शामिल 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि 5 दशकों तक कांग्रेस ने देश को जिस बेदर्दी और बेशर्मी के साथ लूटा है, उस कर्ज़ से कांग्रेस दबी हुई है। सोनिया जी ने सही कहा कि उस कर्ज़ को उतारने का वक़्त है। चिंतन करें और इस बात को महसूस करें कि कितना नुकसान दशकों तक कांग्रेस सरकारों ने किया।

इसके अतिरिक्त मुख्तार अब्बास नकवी ने राष्ट्रीय राजधानी में चल रहे नगर निगम के अतिक्रमण विरोधी अभियान पर भी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि एक कहावत है कि बुलडोजर बदनाम हुआ इनक्रोचमेंट तेरे लिए। अतिक्रमण हो रहा है और बदनाम बुलडोजर हो रहा है। इस तरह की गैरक़ानूनी चीजों पर किसी भी तरह का सांप्रदायिक रंग चढ़ाने की ज़रूरत नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: बीजेपी में वंशवाद की राजनीति का कोई स्थान नहीं है, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया बोले- PM केवल प्रदर्शन में विश्‍वास रखते हैं 

कांग्रेस के पास नहीं है कोई जादू की छड़ी

सीडब्ल्यूसी की बैठक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कहा था कि पार्टी के मंचों पर आलोचना जरूरी है, लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए कि आम कांग्रेसजन का आत्मविश्वास एवं हौंसला टूट जाए। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस नेताओं का आह्वान करते हुए कहा कि अब पार्टी का कर्ज चुकाने का वक्त आ गया है और ऐसे में उन्हें नि:स्वार्थ भाव एवं अनुशासन के साथ काम करना होगा क्योंकि पार्टी को फिर से मजबूत करने के लिए जादू की कोई छड़ी नहीं है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।