पवार के घर पर बैठक को लेकर NCP की सफाई, कहा- मीटिंग बीजेपी के खिलाफ मोर्चा तैयार करने के लिए नहीं बुलाई गई

पवार के घर पर बैठक को लेकर NCP की सफाई, कहा- मीटिंग बीजेपी के खिलाफ मोर्चा तैयार करने के लिए नहीं बुलाई गई

शरद पवार की मेजबानी में आयोजित विपक्षी नेताओं की बैठक को लेकर माकपा के नीलोत्पल बसु ने कहा शरद पवार के आवास पर हुई बैठक में कोविड प्रबंधन, संस्थानों पर ‘हमला’, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। माकपा नेता नीलोत्पल बसु ने कहा यह राजनीतिक बैठक नहीं थी, बल्कि समान विचारधारा वाले लोगों के बीच बातचीत थी।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार के यहां विपक्षी नेताओं की एक अहम मीटिंग बुलाई गई। ये मीटिंग उनके दिल्ली स्थित आवास 6 जनपथ पर बुलाई गई। जिसको लेकर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं। कभी इसे गैर बीजेपी दलों का तीसरा मोर्चा करार दिया जा रहाा था तो कभी 2024 की तैयारी का खाका खींचने का मंच। लेकिन तमाम अटकलों पर विराम लगाते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने सभी बातों को खारिज कर दिया। इसे पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा के राष्ट्र मंच के बैनर तले ‘‘समान विचार वाले लोगों’’ के बीच एक संवाद बताया। तृणमूल कांग्रेस नेता सिन्हा का यह गैर राजनीतिक संगठन भाजपा विरोधी विचार अभिव्यक्त करता रहा है। वहीं एनसीपी नेता माजिद मेनन ने कहा कि आज दिल्ली में राष्ट्र मंच की बैठक हुई। यह बैठक भाजपा के ख़िलाफ़ एकजुट पार्टियों की बैठक नहीं थी और ना ही कांग्रेस को बहिष्कार करने के लिए आयोजित हुई थी। कांग्रेस को भी निमंत्रण दे रखा था। इस बैठक में देश के राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक मुद्दों पर बातचीत हुई। इसे भी पढ़ें: विपक्षी दलों की बैठक पर बीजेपी का तंज, कहा- बपौती वाली राजनीति करने वालों के बस का नहीं चुनाव

शरद पवार की मेजबानी में आयोजित विपक्षी नेताओं की बैठक को लेकर माकपा के नीलोत्पल बसु ने कहा शरद पवार के आवास पर हुई बैठक में कोविड प्रबंधन, संस्थानों पर ‘हमला’, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। माकपा नेता नीलोत्पल बसु ने कहा यह राजनीतिक बैठक नहीं थी, बल्कि समान विचारधारा वाले लोगों के बीच बातचीत थी।

गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल समेत अनेक विपक्षी दलों तथा वाम दलों के नेता मंगलवार को एक बैठक के लिए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के आवास पर जमा हुए। तृणमूल कांग्रेस के नेता और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा, समाजवादी पार्टी (सपा) के घनश्याम तिवारी, राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) के अध्यक्ष जयंत चौधरी, आम आदमी पार्टी (आप) के सुशील गुप्ता, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के बिनय विस्वाम और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) से नीलोत्पल बसु बैठक के लिए पवार के घर पहुंचे। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, कांग्रेस के पूर्व नेता संजय झा और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के पूर्व नेता पवन वर्मा भी बैठक के लिए पहुंचे। इनके अलावा पवार के आवास पर पहुंचने वाले लोगों में न्यायमूर्ति ए पी शाह, जावेद अख्तर तथा के सी सिंह आदि शामिल हैं 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।