अब NCP नेता नवाब मलिक ने ट्विटर के जरिए दिया बड़ा बयान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2019   16:02
अब NCP नेता नवाब मलिक ने ट्विटर के जरिए दिया बड़ा बयान

राकांपा के प्रमुख प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि अगर फ़लक़ को जिद है बिज़लियां गिराने की, तो हमें भी जिद है वहीं पर आशियां बसाने की...।

मुंबई। महाराष्ट्र में राजनीतिक अस्थिरता के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख प्रवक्ता नवाब मलिक ने सोमवार को उत्साहवर्द्धक शायरी ट्वीट कर सभी को यह संदेश देने की कोशिश की कि उन्हें सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। मलिक का ट्वीट ऐसे समय आया है जब राकांपा संकट का सामना कर रही है और वरिष्ठ नेता अजित पवार, शरद पवार के नेतृत्व से बगावत कर सरकार बनाने के लिए भाजपा का समर्थन कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: 54 में से 52 विधायक शरद पवार के खेमे में, अब क्या करेंगे अजित ?

मलिक ने ट्वीट किया, ‘‘अगर फ़लक़ को जिद है बिज़लियां गिराने की, तो हमें भी जिद है वहीं पर आशियां बसाने की...।’’ शिवसेना नेता संजय राउत ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, ‘‘इतिहास भूतपूर्व राजनीति है और राजनीति वर्तमान इतिहास है।’’ उन्होंने इसके जरिये संदेश दिया कि मौजूदा राजनीतिक स्थिति राज्य के इतिहास का अहम अध्याय होगी। पार्टी के राज्यसभा सांसद राउत हालांकि, ट्वीट के जरिये भाजपा पर हमला करते रहे हैं जिसने शिवसेना के साथ मुख्यमंत्री पद साझा करने से इंकार करते हुए तीन दशक पुराना गठबंधन तोड़ दिया था। 

इसे भी पढ़ें: अजित को शरद पवार का जवाब, कहा- बीजेपी के साथ गठबंधन का कोई सवाल ही नहीं

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शनिवार को भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और राकांपा नेता अजित पवार को सुबह राजभवन में क्रमश: मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई जिसके बाद राज्य से राष्ट्रपति शासन हटा दिया गया। भाजपा को अजित पवार ने अपने चाचा की अगुवाई वाली राकांपा के खिलाफ विद्रोह कर समर्थन दिया है। राकांपा ने शनिवार को पार्टी की नीतियों का कथित उल्लंघन करने के आरोप में अजित पवार को पार्टी के विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया। बाद में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस ने संयुक्त रूप से उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर कर देवेंद्र फडणवीस को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने के राज्यपाल के फैसले को चुनौती दी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।