नहीं गंवाई कोरोना में किसी ने अपनी जान, गांव के लोगों ने करवाया अपना मुंडन

नहीं गंवाई कोरोना में किसी ने अपनी जान, गांव के लोगों ने करवाया अपना मुंडन

इस पूरे आयोजन को ढोल नगाड़ों के साथ उत्साह से मनाया गया। गांव के देवनारायण मंदिर से जुलूस निकला जो गांव के सभी मंदिरों पर पहुंचा। जहां सभी मंदिरों में ग्रामीणों ने देवी देवताओं की पूजा आराधना की। और साथ ही साथ जुलूस में ग्रामीण ढोल नगाड़ों की थाप पर झूमते गाते नजर आए और ईश्वर का धन्यवाद दिया गया।

भोपाल। मध्य प्रदेश के नीमच जिले के मनासा तहसील के गांव देवरी खवासा से एक अनोखा दृश्य देखने को मिला है। कोरोना काल मे गांव में किसी भी व्यक्ति की कोरोना से मौत नहीं हुई। इस खुशी में गांव के करीब 100 लोगों ने अपना सामूहिक मुंडन करवाया। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

आपको बता दें कि इस पूरे आयोजन को ढोल नगाड़ों के साथ उत्साह से मनाया गया। गांव के देवनारायण मंदिर से जुलूस निकला जो गांव के सभी मंदिरों पर पहुंचा। जहां सभी मंदिरों में ग्रामीणों ने देवी देवताओं की पूजा आराधना की। और साथ ही साथ जुलूस में ग्रामीण ढोल नगाड़ों की थाप पर झूमते गाते नजर आए और ईश्वर का धन्यवाद दिया गया।

इसे भी पढ़ें:एक प्रेम प्रसंग: भाई और पिता को रास्ते से हटाने की बनाई रणनीति, लेकिन पहुंचे हवालात 

वहीं इस आयोजन की खास बात यह रही कि इसमें सभी जाति वर्ग के लोग बिना किसी भेदभाव के शामिल हुए। आमतौर पर किसी की मृत्यु होने पर मुंडन किया जाता है। लेकिन ग्रामीणों ने इस खुशी के रूप में यह मुंडन करवाया कि गांव में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई।

जानकारी मिली है कि ग्रामीणों ने भगवान के सामने मन्नत ली थी कि यदि गांव के किसी भी व्यक्ति की पूरे वर्ष में कोरोना से मौत नहीं होती है। तो गांव के प्रत्येक घर से एक व्यक्ति अपना मुंडन करवाएगा। इस वर्ष किसी भी व्यक्ति की कोरोना से मौत नहीं हुई। और इसी खुशी में वर्ष के अंतिम दिन 31 दिसंबर को सभी ने सामूहिक रूप से अपना मुंडन करवाया।

इसे भी पढ़ें:भोपाल के बैरागढ़ युवक सुसाइड मामले में हुआ बड़ा खुलासा, वायरल हुआ सुसाइड नोट 

वहीं इस सामूहिक मुंडन कार्यक्रम में लोग बड़ी संख्या में पहुंचे जिसमें 15 वर्ष के बच्चों से लेकर 70 वर्ष के बुजुर्ग शामिल थे। सभी ने खुशी-खुशी मुंडन करवाया और भगवान देवनारायण मंदिर में जाकर उनका आशीर्वाद लिया उनका आभार माना।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।