UP: मदरसों में राष्ट्रगान पर भड़के ओवैसी, कहा- देशभक्ति का सर्टिफिकेट हमें मत दीजिए

UP: मदरसों में राष्ट्रगान पर भड़के ओवैसी, कहा- देशभक्ति का सर्टिफिकेट हमें मत दीजिए
ANI

ओवैसी ने आगे कहा कि 15 अगस्त और 26 जनवरी को सभी मदरसों में देशभक्ति की बातें की जाती हैं। मदरसों में देश से प्यार करने की बातें सिखाई जाती हैं। आप शक की नज़रों से उन्हें देखते हैं, इसलिए आप इस तरह के क़ानून बना रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के सभी मदरसों में रोजाना राष्ट्रगान का गायन अनिवार्य कर दिया गया है। इसको लेकर अब राजनीति शुरू हो गई है। एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा पर निशाना साधा है। ओवैसी ने कहा कि हम योगी आदित्यनाथ और भाजपा को बताते हैं कि देशभक्ति का सर्टिफिकेट आप हमें मत दीजिए। क्योंकि जब देश की आज़ादी की लड़ाई लड़ी जा रही थी तो उस वक्त संघ परिवार नहीं था।

इसे भी पढ़ें: किसानों को बड़ी सहूलियत देने की तैयारी में UP सरकार, सिंचाई और जल संसाधन विभाग 100 दिनों में कार्ययोजना तैयार करने में जुटा

ओवैसी ने आगे कहा कि 15 अगस्त और 26 जनवरी को सभी मदरसों में देशभक्ति की बातें की जाती हैं। मदरसों में देश से प्यार करने की बातें सिखाई जाती हैं। आप शक की नज़रों से उन्हें देखते हैं, इसलिए आप इस तरह के क़ानून बना रहे हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री दानिश आजाद ने कहा कि पिछले 5 सालों में हमने मदरसों को आधुनिकीकरण से जोड़ा है। मदरसों में हम स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में पाठ्यक्रम को भी जोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि मदरसा में शिक्षा हमारे अल्पसंख्यक समाज के लिए बहुत ज़रूरी है। जब वहां से राष्ट्रगान होगा तो वहां पढ़ने वाला बच्चा समाज के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएगा। हमारी सरकार मदरसा में शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाने का प्रयास कर रही है।

इसे भी पढ़ें: 'सबसे ज्यादा भाजपा नेताओं के बने हैं गैर कानूनी घर', आजम खान पर भी खूब बोले अखिलेश यादव

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड के रजिस्ट्रार एसएन पांडे ने गत नौ मई को सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को इस बारे में आदेश जारी किया। पांडे ने आदेश में कहा है कि पिछली 24 मार्च को बोर्ड की बैठक में लिए गए निर्णय के अनुरूप नये शिक्षण सत्र से सभी मदरसों में प्रार्थना के समय राष्ट्रगान अनिवार्य कर दिया गया है। पांडे ने बताया कि रमजान माह के दौरान मदरसों में 30 मार्च से 11 मई तक अवकाश घोषित था और 12 मई से नियमित कक्षाएं शुरू हुईं लिहाजा यह आदेश आज से लागू हो गया है। आदेश में कहा गया है कि राज्य के सभी मान्यता प्राप्त अनुदानित और गैर अनुदानित मदरसों में आगामी शिक्षण सत्र से कक्षाएं शुरू होने से पहले अन्य दुआओं के साथ समवेत स्वर में शिक्षकों और छात्र-छात्राओं को राष्ट्रगान का गायन अनिवार्य रूप से करना होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।