प्रधानमंत्री ने मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा के लोगों को राज्य स्थापना दिवस की दी बधाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2020   12:20
प्रधानमंत्री ने मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा के लोगों को राज्य स्थापना दिवस की दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा के लोगों को राज्य स्थापना दिवस की बधाई दी तथा पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों की संस्कृति और परंपराओं की प्रशंसा की। उल्लेखनीय है कि पूर्वोत्तर के इन तीनों राज्यों को पूर्वोत्तर क्षेत्र (पुनर्गठन) अधिनियम, 1971 के तहत 21 जनवरी 1972 को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला था।

नयी दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को मणिपुर, मेघालय और त्रिपुरा के लोगों को राज्य स्थापना दिवस की बधाई दी तथा पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों की संस्कृति और परंपराओं की प्रशंसा की। उल्लेखनीय है कि पूर्वोत्तर के इन तीनों राज्यों को पूर्वोत्तर क्षेत्र (पुनर्गठन) अधिनियम, 1971 के तहत 21 जनवरी 1972 को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला था। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी-ओली ने जोगबनी-विराटनगर ICP का किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘मणिपुर के स्थापना दिवस पर, इस अद्भुत राज्य के लोगों को मेरी शुभकामनाएं। मणिपुर को यहां की जीवंत संस्कृति के लिए जाना जाता है। मणिपुर के लोगों ने विभिन्न क्षेत्रों में अपनी छाप छोड़ी है। ईश्वर करे कि राज्य आने वाले वर्षों में प्रगति के पथ पर बढ़ता रहे।’’ उन्होंने आगे लिखा, ‘‘मेघालय के लोगों को उनके उदार और दयालु व्यवहार के लिए पहचाना जाता है। खेलों से लेकर संगीत और प्रकृति के संरक्षण तक उनसे बहुत कुछ सीखा जा सकता है। भविष्य में मेघालय के विकास के लिए प्रार्थना करता हूं।’’

इसे भी पढ़ें: PM मोदी पर बरसे कपिल सिब्बल, कहा- राजनीतिक फायदे के लिए किया गया परीक्षा पे चर्चा

मोदी ने त्रिपुरा के लोगों को भी बधाई दी और कहा कि उन्हें राज्य की अनुकरणीय परंपराओं और राष्ट्रीय विकास में राज्य के योगदान योगदान पर गर्व है। उन्होंने कहा, ‘‘यहां के लोगों को परिश्रमी माना जाता है। मैं त्रिपुरा के लोगों की सतत समृद्धि और उनके कल्याण की कामना करता हूं।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।