PM मोदी की तारीफ में अमित शाह ने पढ़े कसीदे, बोले- लोगों को अच्छा लगे इसके लिए नहीं बल्कि उनकी भलाई के लिए लेते हैं फैसले

PM मोदी की तारीफ में अमित शाह ने पढ़े कसीदे, बोले- लोगों को अच्छा लगे इसके लिए नहीं बल्कि उनकी भलाई के लिए लेते हैं फैसले
प्रतिरूप फोटो
Twitter

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोदी जी सरकार लोगों को अच्छा लगे ऐसे फैसले नहीं लेती है बल्कि लोगों के लिए जो अच्छा हो, ऐसे फैसले लेती है। वोट के लिए राजनीति नहीं करना है। व्यापकता बहुत है, हर सोच के अंदर व्यापक दृष्टिकोण का अनुभव करते हो।

नयी दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को विज्ञान भवन में 'मोदी 20: ड्रीम्स मीट डिलीवरी' पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी जी के 20 साल का अनुभव जब तक इससे पहले के 30 साल का अध्ययन नहीं करते वो अधूरा रह जाएगा। मोदी जी के पांच दशक का सार्वजनिक जीवन, गरीबी के आंगन से उठकर देश के प्रधानमंत्री बनने तक का सफर, एक छोटे कार्यकर्ता से लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में सबसे लोकप्रिय नेतृत्व बनने का सफर इस पुस्तक में निहित है। 

इसे भी पढ़ें: अमित शाह ने जल्द ही पूरे असम से AFSPA हटा लिए जाने की उम्मीद जताई 

उन्होंने कहा कि नीति निर्धारण करते वक्त छोटे से छोटे व्यक्ति के लिए वो नीति हो, नीति सर्व-समावेशी है, सर्व स्पर्शी हो, ये कहां से आता है? इसका जवाब प्रधानमंत्री मोदी जी का संगठन के काम में बीता 30 साल का समय है। गृह मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद नरेन्द्र मोदी जी ने संवेदनशील तरीके से समाज के अंतिम व्यक्ति के लिए योजनाएं कैसे बन सकती हैं, और उन्हें लोगों तक कैसे पहुंचाया जा सकता है, उसका उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया।

उन्होंने कहा कि मोदी जी की योजनाओं का अनेक प्रकार से विश्लेषण हो सकता है, लेकिन मोदी जी ने योजनाओं को लोक कल्याण के लिए बनाया। गुजरात के कृषि महोत्सव के मॉडल का जो अध्ययन करेगा, उसको मालूम पड़ेगा कि परिवर्तन किस प्रकार से आता है। इसी बीच उन्होंने कहा कि प्रमाणिकता और पारदर्शिता को लेकर मोदी जी के विरोधी भी उन पर कोई आरोप नहीं लगा सकते हैं। नीतियों के निर्धारण के लिए वो कभी जल्दबाजी नहीं करते हैं लेकिन उनको लागू करने में उनकी जो दृढ़ता है, वो अच्छे-अच्छे को अचंभित कर सकता है। इतने विरोध के बावजूद भी कैसे कोई आदमी डटकर रह सकता है, जब 6 महीने बाद वोट लेने जाना है। 

इसे भी पढ़ें: हिमंत सरकार के सफलतम एक साल, अमित शाह बोले- असम में घुसपैठ की घटनाओं में आई भारी कमी 

गृह मंत्री ने कहा कि मोदी जी सरकार लोगों को अच्छा लगे ऐसे फैसले नहीं लेती है बल्कि लोगों के लिए जो अच्छा हो, ऐसे फैसले लेती है। वोट के लिए राजनीति नहीं करना है। व्यापकता बहुत है, हर सोच के अंदर व्यापक दृष्टिकोण का अनुभव करते हो। दलित, पिछड़े, आदिवासियों के लिए अथाह प्रेम, अथाह संवेदनशीलता और उनके कल्याण के लिए सदैव समर्पित रहना उनकी सोच की विशेषता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।