रावत ने 50 करोड़ की विभिन्न विकास योजनाओं का किया लोकार्पण, बोले- जनता से किए वादों को किया जा रहा पूरा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 22, 2021   09:53
रावत ने 50 करोड़ की विभिन्न विकास योजनाओं का किया लोकार्पण, बोले- जनता से किए वादों को किया जा रहा पूरा

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि आगामी 18 मार्च को राज्य सरकार के कार्यकाल के चार वर्ष पूरे हो जायेंगे और प्रदेश की जनता से किए गए वादों को राज्य सरकार पूरा कर रही है।

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को कहा कि पिछले चार वर्षों में उनकी सरकार ने सड़कों के विकास, स्वच्छ जल की आपूर्ति और महिला सशक्तीकरणआदि पर विशेष ध्यान दिया है। यहां के निकट मिंयावाला में आयोजित कार्यक्रम में लगभग 50 करोड़ रुपए की विभिन्न विकास योजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 18 मार्च को राज्य सरकार के कार्यकाल के चार वर्ष पूरे हो जायेंगे और प्रदेश की जनता से किए गए वादों को राज्य सरकार पूरा कर रही है। वर्ष 2017 में प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान भाजपा ने अपना दृष्टिपत्र जारी किया था। 

इसे भी पढ़ें: रावत सरकार ने महिलाओं को दी बड़ी सौगात, पति की पैतृक संपत्ति में सह-स्वामित्व देने वाला अध्यादेश लाई 

रावत ने कहा कि  2017 में जो दृष्टिपत्र बनाया गया था, उसमें से 85 प्रतिशत से अधिक कार्य हो चुके हैं। यहां जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अलावा अब तक की गयी घोषणाओं पर क्रियान्वयन की भी नियमित समीक्षा की जा रही है और इनमें से अधिकतर पर काम पूरा हो चुका है। रावत ने कहा कि पिछले चार वर्षों में सड़कों के विकास, स्वच्छ जल आपूर्ति, महिला सशक्तीकरण आदि पर विशेष ध्यान दिया गया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने पति की पैतृक सम्पति में महिलाओं को अधिकार देने का कार्य किया है और ऐसा करने वाला उत्तराखंड देश का पहला राज्य है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।