राजस्‍थान के कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश, जनजीवन प्रभावित, जलभराव के कारण रेलवे ने कई ट्रेनें रद्द की

Rajasthan
ANI
राजस्‍थान के कई हिस्सों में लगातार भारी बारिश से उपजे जलजमाव के संकट का असर रेल यातायात पर भी पड़़ रहा है। राज्य में कई ट्रेन रद्द कर दी गई हैं, जबकि कई के मार्गों में परिवर्तन किया गया है।

जयपुर। राजस्‍थान के कई हिस्सों में लगातार भारी बारिश से उपजे जलजमाव के संकट का असर रेल यातायात पर भी पड़़ रहा है। राज्य में कई ट्रेन रद्द कर दी गई हैं, जबकि कई के मार्गों में परिवर्तन किया गया है। उत्‍तर-पश्चिम रेलवे के एक प्रवक्‍ता ने बताया कि भारी बारिश के कारण जोधपुर संभाग के राई का बाग स्टेशन तथा राई का बाग और जोधपुर कैंट स्टेशन के बीच पानी भर जाने के कारण रेल यातायात प्रभावित रहेगा। उन्होंने बताया कि इसके चलते कम से कम पांच ट्रेन पूरी तरह रद्द की गई हैं, जिनमें बुधवार को चलने वाली भगत की कोठी–तिरुचिरापल्ली ट्रेन,जोधपुर–जैसलमेर ट्रेन तथा जोधपुर–हिसार ट्रेन..28 जुलाई को चलने वाली हिसार–बीकानेर ट्रेन और 30 जुलाई को चलने वाली तिरुचिरापल्ली–भगत की कोठी ट्रेन शामिल है।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान के राष्ट्रपति ने परवेज इलाही को पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलायी

प्रवक्ता ने बताया कि इनके अलावा अनेक ट्रेन आंशिक रूप से रद्द की गई हैं तथा कई के मार्ग में परिवर्तन किया गया है। उल्लेखनीय है कि लगातार मूसलाधार बारिश से मंगलवार को राजस्‍थान के जोधपुर, भीलवाड़ा, जालोर और चित्तौड़गढ़ जिलों के अनेक इलाकों में जलभराव के चलते बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रपति भवन में मुर्मू के साथ दोपहर भोज मयूरभंज के निवासियों के लिए बना यादगार

सड़कें और रेल पटरियां जलमग्न हो गईं। वहीं, जोधपुर जिले में बारिश के बाद भरे पानी में डूबने से चार बच्‍चों की मौत हो गई। भारी वर्षा के मद्देनजर जोधपुर के जिला प्रशासन ने ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में सभी निजी व सरकारी स्कूलों को बुधवार को बंद रखने के निर्देश जारी किए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़