शारदा घोटाले में रॉय, शर्मा के खिलाफ अभी निर्णायक अंजाम तक नहीं पहुंची CBI

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 5 2019 7:25PM
शारदा घोटाले में रॉय, शर्मा के खिलाफ अभी निर्णायक अंजाम तक नहीं पहुंची CBI
Image Source: Google

शारदा घोटाले में पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच जारी गतिरोध के बीच असम कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सीबीआई शर्मा के खिलाफ धीमी गति से जांच कर रही है जो पाला बदलकर भाजपा में चले गए हैं।

नयी दिल्ली। कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले क्रमश: हिमंत बिस्व शर्मा और मुकुल राय उन लोगों में शामिल हैं जिनसे सीबीआई ने शारदा घोटाला मामले में पूछताछ की लेकिन उनकी कथित भूमिका को लेकर जांच अब तक किसी निर्णायक नतीजे पर नहीं पहुंची है। शारदा घोटाले में पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच जारी गतिरोध के बीच असम कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सीबीआई शर्मा के खिलाफ धीमी गति से जांच कर रही है जो पाला बदलकर भाजपा में चले गए हैं। सीबीआई ने उन सवालों का जवाब नहीं दिया कि इस मामले में किन तारीखों पर इन दोनों से पछताछ हुई या तलाशी ली गई।

इसे भी पढ़ें : कोलकाता पुलिस प्रमुख को SC का निर्देश, कहा- CBI के साथ ईमानदारी से करें सहयोग

असम प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता और पूर्व मंत्री प्रद्युत बारदोलोई ने कहा कि सीबीआई द्वारा शर्मा के खिलाफ अब भी कोई कार्रवाई की जानी बाकी है और भाजपा में शामिल होने के बाद उनके खिलाफ जांच रोक दी गई है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार रात को आरोप लगाया कि असम के मौजूदा स्वास्थ्य एवं वित्त मंत्री शर्मा चिट फंड घोटाले में शामिल थे। बनर्जी ने कहा, “जब वह (शर्मा) कांग्रेस में थे तब घोटाले में भूमिका के सिलसिले में उनकी जांच की गई लेकिन भाजपा में शामिल होने के बाद इसे (जांच को) रोक दिया गया।”

इसे भी पढ़ें : ममता बनर्जी ने मोदी को नहीं देश के संघीय ढाँचे को सीधी चुनौती दी है

कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे शर्मा से सीबीआई ने शारदा चिट फंड घोटाले के सिलसिले में 26 नवंबर 2014 को पूछताछ की थी। इसी तरह कभी ममता बनर्जी के करीबी सहयोगी और तृणमूल कांग्रेस पार्टी के महासचिव रहे रॉय से भी सीबीआई ने शारदा घोटाले के सिलसिले में पूछताछ की थी। पूर्व रेल मंत्री से शारदा घोटाले के सिलसिले में सीबीआई ने कोलकाता में 30 जनवरी 2015 को पूछताछ की थी। लेकिन प्राथमिकी या आरोप-पत्र में अब तक आरोपी के तौर पर उनका नाम नहीं आया है।  



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story