‘शिवसेना नेता’ के पद से हटाए जाने को कानूनी रूप से चुनौती देंगे मुख्यमंत्री शिंदे: बागी विधायक

Eknath Shinde
ANI
शिवसेना के एक बागी विधायक ने शनिवार को कहा कि अगर उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को ‘शिवसेना नेता’ के पद से हटाने के अपने फैसले को वापस नहीं लेते हैं, तो वह (शिंदे) इस कदम को कानूनी रूप से चुनौती देंगे।

मुंबई। शिवसेना के एक बागी विधायक ने शनिवार को कहा कि अगर उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को ‘शिवसेना नेता’ के पद से हटाने के अपने फैसले को वापस नहीं लेते हैं, तो वह (शिंदे) इस कदम को कानूनी रूप से चुनौती देंगे। शिवसेना अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री ठाकरे ने शुक्रवार को शिंदे पर ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ में शामिल होने का आरोप लगाते हुए उन्हें ‘शिवसेना नेता’ के पद से हटा दिया था।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख भागवत RSS की सप्ताह भर चलने वाली बैठक से पहले राजस्थान पहुंचे

ठाकरे ने एक पत्र में कहा कि शिंदे ने ‘‘स्वेच्छा से’’ पार्टी की सदस्यता छोड़ दी थी, इसलिए ‘‘शिवसेना पार्टी अध्यक्ष के रूप में अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए, मैं आपको पार्टी संगठन में शिवसेना नेता के पद से हटाता हूं।’’ शिंदे गुट के प्रवक्ता दीपक केसरकर ने गोवा में पत्रकारों से कहा कि अगर ठाकरे निर्णय को वापस नहीं लेते हैं, तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। केसरकर ने कहा, ‘‘सभी निर्वाचित विधायकों ने शिंदे को समूह के नेता के रूप में नियुक्त किया है।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख भागवत RSS की सप्ताह भर चलने वाली बैठक से पहले राजस्थान पहुंचे

विधानसभा के नेता के रूप में उन्हें हटाने को भी उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी गई है। हम ठाकरे को कानूनी रूप से जवाब देंगे।’’ उन्होंने कहा कि शिंदे मुख्यमंत्री के रूप में अब विधानसभा के नेता हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमने तय किया है कि हम उद्धव ठाकरे के किसी भी बयान का जवाब नहीं देंगे। वह हमारे नेता हैं और हम उनका सम्मान करते हैं।’’ रविवार से शुरू हो रहे विधानसभा के विशेष सत्र में भाग लेने के लिए शिंदे गुट के विधायकों के आज रात मुंबई लौटने की उम्मीद है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़