विपक्षी एकता पर शिवराज चौहान का तंज, बताया बिना दूल्हे की बारात

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 28 2019 9:11AM
विपक्षी एकता पर शिवराज चौहान का तंज, बताया बिना दूल्हे की बारात
Image Source: Google

चौहान ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘विपक्षी एकता कुछ नहीं बल्कि ‘बिना दूल्हे की बारात है, इसका कोई नेता नहीं है।’ वे अपना-अपना अस्तित्व बचाने के लिए एक साथ आ रहे हैं।’’

नयी दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विपक्षी एकता को ‘‘बिना दूल्हे की बारात’’ जैसा बताते हुए कहा कि विपक्षी दलों के पास एक भी ऐसा नेता नहीं है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुकाबला कर सके। हाल ही में भाजपा के उपाध्यक्ष नियुक्त हुए चौहान ने कहा कि मोदी एक लोकप्रिय नेता हैं और पार्टी उनके नेतृत्व में 2019 का आम चुनाव जीतेगी। चौहान ने एक साक्षात्कार में कहा, ‘‘विपक्षी एकता कुछ नहीं बल्कि ‘बिना दूल्हे की बारात है, इसका कोई नेता नहीं है।’ वे अपना-अपना अस्तित्व बचाने के लिए एक साथ आ रहे हैं।’’ 



 
उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास मोदी का मुकाबला करने के लिए कोई नेता नहीं है। सभी भाजपा नेता पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री के साथ खड़े हैं। चौहान ने कहा, ‘‘विपक्ष में कोई नेता नहीं है जो मोदी जी का मुकाबला कर सके। हम सभी उनके साथ खड़े हैं और यह चुनाव जीतेंगे। आज, मोदी ना केवल मेरे बल्कि पूरे देश के नेता हैं।’’ भविष्य में भाजपा में उनकी भूमिका के बारे में पूछे जाने पर चौहान ने कहा कि पार्टी नेतृत्व जो भी उनके लिए तय करेगा वह करेंगे लेकिन साथ ही कहा कि वह भावनात्मक रूप से मध्य प्रदेश से जुड़े हुए हैं। 
 
 


उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा मेरे लिए जो भी तय करेगी मैं करुंगा लेकिन मेरा मध्य प्रदेश से भावनात्मक तौर पर लगाव है। एक तरीके से मैं मध्य प्रदेश की सेवा करता रहूंगा।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह राष्ट्रीय राजनीति में आएंगे, इस पर चौहान ने कहा कि पार्टी प्रमुख और प्रधानमंत्री उनके लिए जो भी फैसला करेंगे वह उसे अपनी पूरी क्षमताओं के साथ करेंगे। मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने से पहले तक चौहान राज्य में विदिशा से पांच बार लोकसभा सदस्य रहे थे।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video