शिवराज जी सरकार चला रहे है या सर्कस, प्रदेश में नहीं रूक रहे महिला अपराध और माफिया का दखल- जीतू पटवारी

Jitu Patwari
दिनेश शुक्ल । Feb 19, 2021 10:41PM
पटवारी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस नेता स्वर्गीय माधवराव सिंधिया ने 1991 में उड्डयन मंत्री रहते एक साल बाद हुई दुर्घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे दिया था क्या आप आपने समर्थक मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को इस्तीफा दिलावाएगें
भोपाल। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष, पूर्व मंत्री और मीडिया अध्यक्ष जीतू पटवारी ने प्रदेश की शिवराज सरकार की तुलना सर्कस से की है। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने सीधी बस दुर्घटना पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि शिवराज जी आपका परिवहन विभाग और पुलिस क्या कर रही है 32 सीटर बस में 64 यात्री कैसे सवार हुए। क्या परिवहन विभाग के उड़नदस्ते सिर्फ वसूली का काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि 32 सीटर बस को सिर्फ 75 किलो मीटर के रूट का परमिट देने का प्रावधान है फिर दुर्घटना वाली बल को 132 किलो मीटर दर सतना तक का परमिट क्यों दिया गया।

 

इसे भी पढ़ें: पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस मूल्यवृद्धि को लेकर मध्य प्रदेश कांग्रेस का बंद शनिवार को, कमलनाथ ने की सहयोग की अपील

जीतू पटवारी ने कहा कि मृतकों में नर्सिंग के विद्यार्थी थे, उन्हें सीधी जिला मुख्यालय या फिर 40 किलो मीटर दूर रीवा संभाग मुख्यालय पर परीक्षा क्यों नहीं ली गई। पटवारी ने कहा कि यह मौंते शिवराज के 15 साल की बेरोजगारी का प्रतीक है। मृतकों को सरकार की तरफ से दी गई आर्थिक सहायता पर सवाल खड़े करते हुए पटवारी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने मात्र 01 लाख रूपए देकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया क्योंकि 04 लाख रूपए दुर्घटना में मृतकों को देने का तो पहले से ही प्रावधान है। उन्होंने कहा कि मंदसौर में किसानों पर हुए गोली कांड की तरह ही तरह सीधी बस दुर्घटना में मारे गए लोगों की आप्रत्यक्ष रूप से सरकार द्वारा की गई हत्या ही है। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने मंदसौर गोली कांड में मारे गए किसानों की तरह ही प्रदेश की शिवराज सरकार से मृतकों के परिजनों को 1 करोड़ रूपए के मुआबजे की मांग की है।  साथ ही उन्होंने मृतकों के परिजनों के लिए एक सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग भी की।

 

इसे भी पढ़ें: सीधी बस दुर्घटना में चौथे दिन मिली दो और लोगों की लाशें, 53 पहुँची मृतकों की संख्या

पूर्व मंत्री ने कहा कि चूंकि यह हादसा परिवहन विभाग और लोक निर्माण विभाग की गंभीर लापरवाही का नतीजा है इसलिए इसे केवल हादसा नहीं बल्कि परिवहन और लोक निर्माण विभाग द्वारा गैर- इरादतन ह्ताया मानते हुए परिवहन मंत्री और लोक निर्माण मंत्री पर 51 लोगों की हत्या का मुकदमा तत्काल दर्ज किया जाए। उन्होंने कहा अगर शिवराज जी ऐसा नहीं कर सकते तो वह बताए कि लोगों की मौत की नैतिक जिम्मेदारी किसकी है अगर नहीं बता सकते तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। जीतू पटवारी ने कहा कि मच्छर काटने पर सर्किट हाउस के कर्मचारी को निलंबित करने से काम नहीं चलेगा।

 

इसे भी पढ़ें: उच्च-स्तरीय बैठक में बोले मुख्यमंत्री सीधी बस दुर्घटना के दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा

पटवारी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस नेता स्वर्गीय माधवराव सिंधिया ने 1991 में उड्डयन मंत्री रहते एक साल बाद हुई दुर्घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे दिया था क्या आप आपने समर्थक मंत्री गोविंद सिंह राजपूत को इस्तीफा दिलावाएगें क्योंकि वह आपके कोटे से ही परिवहन मंत्री बने है जिसके लिए शिवराज जी को एक माह तक कैबिनेट विस्तार रोकना पड़ा था। उन्होंने कहा कि परिवहन मंत्री रस्म अदायगी के लिए भोपाल में बसों को चैक कर रहे है, घटना सीधी में हुई है मंत्री जी दूर-दराज के क्षेत्रों में जाईए आपको हकीकत पता चलेगी और शिवराज जी का स्वर्णिम मध्य प्रदेश दिखेगा।

 

इसे भी पढ़ें: सीएम हेल्पलाइन ही मांग रही है हेल्प ,तो जनता कहां जाये बतायें मुख्यमंत्री - भूपेंद्र गुप्ता

जीतू पटवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी आप जिन बेटियों की पूजा कर नया कार्य प्रारंभ कर रहे है वह सुरक्षित नहीं है। भोपाल के कोलार में एक लड़की के साथ हुए दुष्कृत्य और उसे मारने की कोशिश का एक खबर समाचार पत्रों की सुर्खिया बना हुआ है और आप कहते है कि मध्य प्रदेश सुरक्षित है। जीतू पटवारी ने कहा कि आज समाचार पत्र में उस लड़की की खबर पढिए जिसके साथ हैवानियत हुई और वह आज हिल भी नहीं सकती। शिवराज जी आपके प्रदेश की आदिवासी महिला विधायक को आपकी पार्टी भाजपा के नेता खुलेआम नाक और हाथ काटने और जान से मारने की धमकी दी उनके खिलाफ अपराध क्यों नहीं दर्ज किया गया। क्या आपका माफिया के खिलाफ अभियान राम भरोसे, विज्ञापन भरोसे चल रहा है क्या।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कानून का राज है या तालिबान का, आदिवासी विधायक का अपमान कांग्रेस नहीं सहेगी - जीतू पटवारी

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा 20 फरवरी को पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की मंहगाई को लेकर किए जा रहे प्रादेशिक बंद को लेकर प्रदेश की जनता से अपील की उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को साईकिल भेंट करेंगे क्योंकि यूपीए सरकार के दौरान पेट्रोल के दाम बढ़ने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान साईकिल से मंत्रालय जाते थे अब एनडीए की मोदी सरकार में भी उन्हें ऐसा करना चाहिए बढ़ी हुई कीमतों का विरोध करना चाहिए अगर वह ऐसा नहीं करते तो उनकी दो सोच क्यों है वह बताएँ। जीतू पटवारी ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री जी साईकिल से नहीं चलते तो वह हमारे ईमानदार मुख्यमंत्री नहीं हो सकते।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आपस में भिड़े कार्यकर्ता, बीजेपी ने निशाना साधते हुए कसा तंज

इस दौरान जीतू पटवारी ने बाबा रामदेव पर भी जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव मोदी सरकार आने के बाद 90 रूपए से 30 रूपए पेट्रोल देश में मिलने की बात कहते थे। विदेशों में जमा चार लाख करोड़ कालेधन को लाकर देश के विकास में लगाने की बात कही थी लेकिन अब वह चुप क्यों है। वही बाबा रामदेव की कंपनी पतंजली की कोरोना दवाई को लेकर आए केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बाबा रामदेव कहते है कि उनकी संम्पत्ति देश की सम्पत्ति है तो वही अब कोरोना की दवा पूरे देश में मुफ्त में दें। जीतू पटवारी ने कहा कि जब आपकी कंपनी का पैसा देश का पैसा है तो लाला बाबा रामदेव को अपके स्टोरों पर जनता को 50 प्रतिशत की सब्सडी देना चाहिए।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़