Jammu Kashmir। घाटी में आतंकियों की अब खैर नहीं, इस साल अब तक 100 को किया गया ढेर

encounter
ANI
अंकित सिंह । Jun 13, 2022 2:52PM
पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी), कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि इस साल अब तक कुल 100 आतंकवादी मारे जा चुके हैं। पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर) विजय कुमार ने बिना किसी नुकसान के पेशेवर तरीके से आतंकवाद रोधी अभियान चलाने को लेकर सुरक्षाबलों को बधाई दी।

भले ही जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने की कोशिश में जुटे रहते हैं। लेकिन इसका अंजाम भी उन्हें भुगतना पड़ता है। यह बात सच है कि आतंकवादियों ने अब कश्मीर में आतंक के तरीकों में बदलाव किया है। अब आतंकवादी हाइब्रिड तरीके से आतंक के वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। लेकिन हमारे सुरक्षा बल उन्हीं की भाषा में 24 से 48 घंटे के भीतर उन्हें ढेर कर दे रहे हैं। यही कारण है कि हम इसे कश्मीर में आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन ऑल आउट कह सकते हैं। हमारे सुरक्षा बल आतंकवादियों के खिलाफ लगातार ऑपरेशन चला रहे हैं और उन्हें मौत के घाट भी उतार रहे हैं। इसी कड़ी में अब तक इस साल 100 आतंकवादियों को मार गिराया गया है। यह भारत के लिहाज से अच्छी और बड़ी खबर है। इन 100 में से 63 आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से नाता रखते थे। 

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकियों में पुलिसकर्मियों का हत्यारा शामिल

पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी), कश्मीर विजय कुमार ने बताया कि इस साल अब तक कुल 100 आतंकवादी मारे जा चुके हैं। पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर) विजय कुमार ने बिना किसी नुकसान के पेशेवर तरीके से आतंकवाद रोधी अभियान चलाने को लेकर सुरक्षाबलों को बधाई दी। इससे पहले आईजीपी ने बताया कि घाटी में इस साल अब तक 99 आतंकवादियों को मार गिराया गया है और आदिल पर्रे की मौत के साथ यह संख्या 100 हो गई है। विजय कुमार के मुताबिक गंदरबल का लश्कर का आतंकवादी आदिल पर्रे, जो जम्मू कश्मीर पुलिस (जेकेपी) के दो कर्मियों संगम में जी. एच. हसन डार और अंचार सौरा में सैफुल्ला कादरी की हत्या में शामिल था, पुलिस की एक छोटी टीम के साथ अचानक हुई मुठभेड़ में मारा गया। रविवार को कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ जबरदस्त ऑपरेशन चलाया गया। रविवार के हिसाब से देखें तो पिछले 24 घंटे में 5 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया गया। 

इसे भी पढ़ें: जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षा बलों और आतंकियों की मुठभेड़, तीन आतंकवादी मारे गये

इन सबके बीच पिछले दिनों जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बड़ा बयान दिया था। मनोज सिन्हा ने साफ तौर पर कहा है कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद अब आखरी सांस ले रहा है। आपको बता दें कि कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या के बाद आतंकवादियों ने कई आम लोगों को अपना निशाना बनाया। जिसके बाद प्रशासन को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। सिन्हा ने कुलगाम जिले में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि जब दीपक बुझने लगता है तो उसकी लौ तेज हो जाती है। वहीं स्थिति आज आतंकवाद की है। ये लौ इसलिए तेज है क्योंकि हमारे सुरक्षाबलों ने इनकी नकेल कसने का काम किया है। आतंकवाद अब जम्मू-कश्मीर में आखिरी सांस ले रहा है। उन्होंने कहा था कि निर्दोष लोगों की लक्षित हत्याएं हुई हैं। मेरा मानना है कि समाज को इसकी निंदा करनी चाहिए। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़