जनता की पसंद में चाचा से आगे निकले तेजस्वी, PM मोदी की लोकप्रियता में नहीं आई कोई कमी: सर्वे

Tejashwi Yadav
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Aug 10, 2022 10:03PM
सी-वोटर ने बिहार की राजनीति पर एक सर्वे किया। जिसमें मुख्यमंत्री पद के लिए कौन सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है ? आज चुनाव हुआ तो किसे कितने फीसदी वोट मिलेंगे ? सर्वे के मुताबिक, अगर अभी चुनाव हुए तो भाजपा को नुकसान होगा, जबकि नीतीश के आने से वोटो के प्रतिशत में भी इजाफा होने की संभावना है।

पटना। बिहार में राजनीति का नया अध्याय लिखा जा चुका है। भविष्य में जब भूतकाल की घटनाओं का उल्लेख किया जाएगा तो सभी इस बात से हैरान रहेंगे कि चाहे चुनाव में कोई भी पार्टी सबसे ज्यादा सीटें जीत जाए लेकिन मुख्यमंत्री तो नीतीश कुमार ही बने हैं। मगर अब हम वर्तमान की बात कर लेते हैं क्योंकि वर्तमान में ही सबसे ज्यादा आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति हो रही है और वर्तमान में ही सी-वोटर का एक सर्वे भी सामने आया है।

इसे भी पढ़ें: पार्टी बदलने की चाहत रखने वालों के लिए मार्गदर्शक हैं नीतीश कुमार, 6-8 महीने में गठबंधन नहीं छोड़ेंगे क्या गारंटी है ? हिमंत ने कसा तंज

सी-वोटर ने बिहार की राजनीति पर एक सर्वे किया। जिसमें मुख्यमंत्री पद के लिए कौन सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है ? आज चुनाव हुआ तो किसे कितने फीसदी वोट मिलेंगे ? सर्वे के मुताबिक, अगर अभी चुनाव हुए तो भाजपा को नुकसान होगा, जबकि नीतीश कुमार के महागठबंधन में आने से वोटो के प्रतिशत में भी इजाफा होने की संभावना है। सर्वे के मुताबिक, अभी चुनाव हुए तो महागठबंधन को 48 फीसदी लोगों के वोट मिलेंगे। जबकि एनडीए को 31 फीसदी लोग वोट देंगे।

विधानसभा चुनाव में भी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने 79 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी का तमगा हासिल किया था। जबकि भाजपा के हिस्से में 77, जदयू के हिस्से में 45, कांग्रेस को 19 और वामदलों को 16 सीटें हासिल हुई थी। जिसका मतलब था कि राजद को 43 फीसदी सीटों पर जीत मिली थी। सर्वे के मुताबिक, बिहार की जनता को लगता है कि एनडीए में अगर जदयू साथ होती तो प्रदेश में एक बार फिर से एनडीए की सरकार बन सकती थी।

जनता की पहली पसंद कौन ?

सर्वे के मुताबिक, बिहार में मुख्यमंत्री के तौर पर जनता की पहली पसंद तेजस्वी यादव हैं, जबकि नीतीश कुमार को दूसरा स्थान और भाजपा को तीसरा स्थान मिला है। तेजस्वी यादव 43 फीसदी लोगों की पहली पसंद हैं। जबकि नीतीश कुमार को 24 फीसदी और भाजपा को 19 फीसदी लोगों का समर्थन प्राप्त है। खैर बिहार में सरकार किसी की भी बने लेकिन मुख्यमंत्री तो नीतीश कुमार ही बनते हैं। तभी तो बुधवार को प्रदेश में सरकार नई, मुख्यमंत्री वही बने, यानी की नीतीश कुमार... जबकि तेजस्वी यादव ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसके बाद उन्होंने चाचा नीतीश कुमार के पैर भी छुए।

इसे भी पढ़ें: 'बिहार ने वही किया जो देश को करने की जरूरत', तेजस्वी बोले- युवाओं को एक महीने के भीतर देंगे बंपर नौकरी 

PM की लोकप्रियता में कोई कमी नहीं

भले ही नीतीश कुमार ने शपथ ग्रहण करने के बाद इशारों-इशारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लोकसभा चुनाव को लेकर निशाना साधा हो लेकिन सर्वे के हिसाब से प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई है। नीतीश कुमार ने कहा कि जो 2014 में आए वो 2024 के बाद रह पाएंगे या नहीं ? इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि 2024 के लिए सभी (विपक्ष) एकजुट हों।

सर्वे के मुताबिक, प्रधानमंत्री के तौर पर सबसे ज्यादा लोगों ने नरेंद्र मोदी को पसंद किया है। नरेंद्र मोदी को 44 फीसदी, नीतीश कुमार को 22 फीसदी और राहुल गांधी को 18 फीसदी लोगों ने प्रधानमंत्री के तौर पर पसंद किया है।

अन्य न्यूज़