पार्टी बदलने की चाहत रखने वालों के लिए मार्गदर्शक हैं नीतीश कुमार, 6-8 महीने में गठबंधन नहीं छोड़ेंगे क्या गारंटी है ? हिमंत ने कसा तंज

Himanta Biswa Sarma
ANI Image
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि आप कैसे गारंटी दे सकते हैं कि नीतीश कुमार 6-8 महीने बाद इस गठबंधन को नहीं छोड़ेंगे। वह अप्रत्याशित है। हमने राजनीतिक दल भी बदला है लेकिन हम उनकी तरह नहीं बदलते हैं। हर छह महीने में पार्टी बदलने की चाहत रखने वालों के लिए वह 'मार्गदर्शक' हैं।

नयी दिल्ली। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर एनडीए का साथ छोड़ने को लेकर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा कि आप कैसे गारंटी दे सकते हैं कि नीतीश कुमार 6-8 महीने बाद इस गठबंधन को नहीं छोड़ेंगे। दरअसल, बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार थी, जिसके मुख्यमंत्री के तौर पर नीतीश कुमार ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया और बुधवार को महागठबंधन के नेता के तौर पर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

इसे भी पढ़ें: 'बिहार ने वही किया जो देश को करने की जरूरत', तेजस्वी बोले- युवाओं को एक महीने के भीतर देंगे बंपर नौकरी 

पार्टी बदलने वालों के लिए मार्गदर्शक हैं नीतीश !

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि आप कैसे गारंटी दे सकते हैं कि नीतीश कुमार 6-8 महीने बाद इस गठबंधन को नहीं छोड़ेंगे। वह अप्रत्याशित है। हमने राजनीतिक दल भी बदला है लेकिन हम उनकी तरह नहीं बदलते हैं। हर छह महीने में पार्टी बदलने की चाहत रखने वालों के लिए वह 'मार्गदर्शक' हैं।

इसे भी पढ़ें: बदले समीकरण के बीच नीतीश कुमार पर बरसे पशुपति पारस, बोले- बिहार के हित के लिए नहीं हुआ सही 

गठबंधन धर्म का भाजपा ने नहीं किया पालन

वहीं दूसरी तरफ जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह ने भाजपा पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार साल 2020 में मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते थे लेकिन आपने (भाजपा) उन्हें जबरदस्ती मुख्यमंत्री बनाया... इसके साथ ही ललन सिंह ने आरसीपी सिंह को भाजपा का एजेंट बताते हुए कहा कि वो भाजपा के एजेंट बनकर जदयू में आए। आपने (भाजपा) गठबंधन धर्म का पालन नहीं किया। हम आयकर, सीबीआई और ईडी से नहीं डरते हैं।

अन्य न्यूज़