कश्मीर में पुलिसकर्मियों को निशाना बना रहे आतंकी, स्थानीय लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

कश्मीर में पुलिसकर्मियों को निशाना बना रहे आतंकी, स्थानीय लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन
Prabhasakshi

कश्मीर की जनता काफी नाराज और परेशान है। इसीलिये आतंकवाद की घटनाओं और पुलिसकर्मियों को निशाना बनाये जाने के विरोध में श्रीनगर में 'आखिर कब तक' अभियान के तहत कैंडल लाइट विरोध का आयोजन किया गया।

कश्मीर में आतंकवाद संबंधी हाल की कई घटनाओं में पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया गया लेकिन पुलिसकर्मियों का अपने कर्तव्यों के निर्वहन के प्रति हौसला और जज्बा जरा भी नहीं डिगा है। आतंकवाद के सफाये के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी और जवान सदैव तत्पर रहते हैं। लेकिन यह बात आतंकवादियों और पाकिस्तान में बैठे उनके आकाओं को भाती नहीं है इसलिए पुलिसकर्मियों को निशाने पर लिया जाता है।

इसे भी पढ़ें: किश्तवाड़ में सेना और पुलिस ने चलाया पांच घंटे तक ऑपरेशन, चेनाब नदी में फंसे दो युवकों को बचाया

इस सबसे कश्मीर की जनता काफी नाराज और परेशान है। इसीलिये आतंकवाद की घटनाओं और पुलिसकर्मियों को निशाना बनाये जाने के विरोध में श्रीनगर में 'आखिर कब तक' अभियान के तहत कैंडल लाइट विरोध का आयोजन किया गया। इस आयोजन में बड़ी संख्या में सामाजिक कार्यकर्ताओं, कश्मीरी पंडितों और स्थानीय लोगों ने हिस्सा लिया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आतंकवाद की घटनाओं में संलिप्त लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। प्रभासाक्षी से बातचीत करते हुए प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम श्रीनगर में आतंकवादियों द्वारा मारे गए गुलाम हसन डार नाम के पुलिसकर्मी की हत्या के खिलाफ भी अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि हम कब तक निर्दोष पुलिस और नागरिकों की हत्याओं को देखते रहेंगे। सभी ने यही कहा कि कश्मीर में सभी धर्मों के लोग मिलजुलकर रहना चाहते हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...