कोरोना संक्रमण के दौरान मास्क और सेनेटाइजर से भी जरूरी है ये चीज, प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 3, 2020   18:35
कोरोना संक्रमण के दौरान मास्क और सेनेटाइजर से भी जरूरी है ये चीज, प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

पत्रकार सुश्री वंदना तिवारी का मानना है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जितना मास्क और सेनेटाइजर जरूरी है उससे कही ज्यादा जरूरी महिलाओं के महावारी के दौरान काम आने वाला सेनेटरी पैड है। जिससे देश की आधी आबादी को कई अनचाही बिमारीयों से बचाया जा सकता है।

भोपाल। कोरोना संकट के बीच देश की आधी आबादी यानि महिलाओं की समस्या को लेकर मध्य प्रदेश की एक महिला पत्रकार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रीयों को पत्र लिखा है। इलेक्ट्रानिक मीडिया में पिछले एक दशक से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम करने वाली इस महिला पत्रकार ने कोरोना संकट के बीच उन गरीब और जरूरतमंद महिलाओं को लेकर चिंता जताई है, जिन्हें इस महामारी के बीच तरह-तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कटनी जिले की इस महिला पत्रकार ने अपने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रीयों को लिखे पत्र के जरिए देश की आधी आबादी की आवाज उठाने की कोशिश की है।   

 

इसे भी पढ़ें: WHO की एक रिपोर्ट में खुलासा, ऐसे फैलता है खतरनाक कोरोना वायरस

एक बेटे की माँ  और पिछले एक दशक से कटनी जिले में पत्रकारिता कर रही सुश्री वंदना तिवारी नाम की इस महिला पत्रकार ने जब कोरोना संक्रमण के दौरान हुए लॉकडाउन और कर्फ्यू में महिलाओं से बात की तो कई महिलाओं ने उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत करवाया। जिसमें महावारी के दौरान साफ-सफाई से जुड़ी समस्या और उसको लेकर सरकार द्वार किए जा रहे प्रयासों की बात सामने आई। जिसके बाद सुश्री वंदना तिवारी ने उनकी समस्या को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अपने प्रदेश के मुखिया सहित अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री तक पहुँचाने की ठान ली। सुश्री वंदना तिवारी का कहना है कि कोरोना जैसे महामारी के बीच एक और बीमारी पनप रही है, जिसको लेकर सरकारें कई अभियान चला चुकी है। महिलाओं की इस समस्या पर कई फिल्में भी बन चुकी है लेकिन हालत सुधरने का नाम नहीं ले रहे। 

इसे भी पढ़ें: सीताराम बनेंगे ऋतिक -दीपिका, नितेश तिवारी बनाने जा रहे हैं 400 करोड़ की रामायण

पत्रकार सुश्री वंदना तिवारी का मानना है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जितना मास्क और सेनेटाइजर जरूरी है उससे कही ज्यादा जरूरी महिलाओं के महावारी के दौरान काम आने वाला सेनेटरी पैड है। जिससे देश की आधी आबादी को कई अनचाही बिमारीयों से बचाया जा सकता है। पत्रकार सुश्री वंदना तिवारी ने अपने पत्र में महिलाओं की मासिक जरूरत को इंगित करते हुए एक समस्या के समाधान की आशा की है।  वह पत्र जो पत्रकार सुश्री वंदना तिवारी ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रीयों को लिखा-  

इसे भी पढ़ें: कनिका कपूर के परिवार का आरोप, अस्पताल के डॉक्टर्स ने उन्हें पर्दे के पीछे कपड़े बदलने को कहा...

आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी और साथ ही देश के तमाम राज्यों के मुख्यमंत्री महोदय, 

मेरा विनम्र अनुरोध है, मैं आपका ध्यान आकर्षण एक महत्वपूर्ण विषय की तरफ करवाना चाहती हूं। हालांकि मैं जो आपको पत्र के माध्यम से जो प्रेषित करने जा रही हूँ, हो सकता है, मैं जहां रहती हूं लोगों को जब यह पता चले कि मैंने आप से क्या मांग की है। तो लोग मेरा मजाक बनाएगें पर मुझे इस बात की तनिक मात्र चिंता नहीं है।

आदरणीय मुख्यमंत्री जी लॉकडाउन होने के कारण किराना दुकानों में किराना तो उपलब्ध है, लेकिन महिलाओं के लिए प्रतिमाह इस्तेमाल होने वाले सबसे जरूरी ‘सेनेटरी पैड’ उपलब्ध नहीं हैं। वह महिलाएं जो दूसरों के घरों में काम करती थी, अब वह कर्फ्यू और लॉकडाउन की वजह से कई तरह की दिक्कतों का सामना कर रही है। जिसमें सबसे बड़ी समस्या के रूप में उनके सामने बेरोजगारी की वजह से वह जरूरी सामान जो उनके हर माह की जरूरत है वह खरीदने में असमर्थ है। इन महिलाओं का काम छूटने के कारण वह बेहद महंगा हो चुका सेनेटरी पैड खरीद पाने में असमर्थ है। आदरणीय कोरोना वायरस के इन्फेक्शन से तो यह महिलाएं बाद में प्रभावित होंगी, लेकिन मासिक धर्म में गंदे कपड़ों के इस्तेमाल से वह पहले संक्रमित हो जाएगी। इस वाबत आप से अनुरोध है,कि इसका समाधान भी जल्द से जल्द किया जाए ताकि गरीब महिलाएं कोरोना संक्रमण से पहले हर माह आने वाले इस शारीरिक संक्रमण की चपेट में आने से बच सके। मैं आशा करती हूँ कि आप पत्र में इंगित देश की आधी आबादी की समस्या पर ध्यान देकर जरूर कुछ ठोस कदम उठाएंगें। 

धन्यवाद

सादर

- वंदना तिवारी, पत्रकार, 

   जिला कटनी म.प्र.





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।