हिंसा में 2 लोग मारे गये, ममता बोलीं- पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 11 2019 8:47AM
हिंसा में 2 लोग मारे गये, ममता बोलीं- पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे
Image Source: Google

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘यह सुनियोजित खेल है। उनकी योजना मेरी आवाज दबाने की है क्योंकि उन्हें पता है कि देश में उनके खिलाफ आवाज उठाने वाली एक मात्र शख्सियत ममता बनर्जी है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि शनिवार को हुई हिंसा में दो लोग मारे गये थे और भाजपा का पांच लोगों के मारे जाने का दावा झूठा है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा हिंसा भड़काने की और फर्जी खबरें फैलाकर उनकी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है तथा तृणमूल कांग्रेस पश्चिम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देगी। बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा पश्चिम बंगाल को भेजे परामर्श को ‘‘पर्दे के पीछे से खेला जा रहा खेल’’ करार दिया और कहा कि राज्य के मुख्य सचिव इसका जवाब दे चुके हैं।



 
मुख्यमंत्री ने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, ‘‘वे (भाजपा) सोशल मीडिया के माध्यम से फर्जी खबरें फैलाने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रहे हैं। केंद्र सरकार और (भाजपा) पार्टी के कार्यकर्ता राज्य में हिंसा भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। हम बंगाल को एक और गुजरात नहीं बनने देंगे।’’ मुख्यमंत्री ने मीडिया पर भी भाजपा के इशारे पर गलत जानकारी प्रसारित करके राज्य का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने राज्य विधानसभा चुनाव 2021 से पहले होने की अटकलों को भी खारिज कर दिया। बनर्जी ने आरोप लगाया कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कुछ केंद्रीय नेताओं के इशारे पर भाजपा एक साजिश के तहत पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग और जंगलमहल इलाकों में हिंसा फैलाने की कोशिश कर रही है।  उन्होंने कहा कि भाजपा को ‘आग से नहीं खेलना चाहिए।’


तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘यह सुनियोजित खेल है। उनकी योजना मेरी आवाज दबाने की है क्योंकि उन्हें पता है कि देश में उनके खिलाफ आवाज उठाने वाली एक मात्र शख्सियत ममता बनर्जी है। हमारी सरकार को गिराने की यह साजिश सफल नहीं होगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम उनकी साजिश का शिकार नहीं होंगे और लोगों से शांत रहने को कहेंगे।’’ लोकसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाएं भी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच टकराव का विषय बन गयी हैं। उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में शनिवार रात भड़की हिंसा के बाद तीन लोगों के शव बशीरहाट अस्पताल लाये गये थे। भाजपा नेताओं ने दावा किया था कि इनमें से दो लोग उनके समर्थक थे वहीं तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि एक उनका सक्रिय कार्यकर्ता था।
दोनों दलों ने दावा किया कि उनके कई समर्थक हिंसा के बाद से लापता हैं।
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video