तो क्या इस वजह से अखिलेश के हेलीकॉप्टर को रोका गया ? वजह आई सामने, सपा अध्यक्ष ने लगाए गंभीर आरोप

तो क्या इस वजह से अखिलेश के हेलीकॉप्टर को रोका गया ? वजह आई सामने, सपा अध्यक्ष ने लगाए गंभीर आरोप
प्रतिरूप फोटो

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बताया कि मैं हेलीकॉप्टर में 2 घंटे से अधिक समय तक था... मुझे उम्मीद है कि चुनाव आयोग इस पर गौर करेगा... अगर किसी को रैली के लिए जाना है तो वे कैसे काम करेंगे अगर उनके हेलिकॉप्टर को इतने लंबे समय के लिए रोक दिया जाए, ऐसा लगता है कि चुनाव से पहले भाजपा कुछ भी करेगी।

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव के हेलीकॉप्टर को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को रोककर रखे जाने के बाद सियासत गर्मा गई। अखिलेश यादव ने एक के बाद एक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर गंभीर आरोप लगाए। इसी बीच एक अहम जानकारी सामने आई है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक अखिलेश यादव के हेलीकॉप्टर को कमर्शियल फ्लाइट ऑपरेशन के चलते रोका गया था। 

इसे भी पढ़ें: रक्षक ही भक्षक बन जाए तो क्या होगा ? अखिलेश ने आतंकियों के केस को ड्राप करने का किया था काम: जेपी नड्डा 

अखिलेश ने लगाए भाजपा पर आरोप

समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बताया कि मैं हेलीकॉप्टर में 2 घंटे से अधिक समय तक था... मुझे उम्मीद है कि चुनाव आयोग इस पर गौर करेगा... अगर किसी को रैली के लिए जाना है तो वे कैसे काम करेंगे अगर उनके हेलिकॉप्टर को इतने लंबे समय के लिए रोक दिया जाए... ऐसा लगता है कि चुनाव से पहले भाजपा कुछ भी करेगी।

उन्होंने आगे कहा कि लोगों ने मुझसे कहा कि भाजपा नेताओं ने मुझसे पहले उड़ान भरी थी... मुझे हवाई यातायात के बारे में बताया गया था, उन्हें इंतजार नहीं करना पड़ा जबकि मुझे 2 घंटे से ज्यादा इंतजार करना पड़ा। भाजपा चाहे कुछ भी करे, उत्तर प्रदेश के लोग उन्हें हटा देंगे। दरअसल, अखिलेश यादव को मुजफ्फरनगर में संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करने के लिए जाना था लेकिन उन्हें दिल्ली एयर पोर्ट पर रोक दिया गया। जिसकी वजह से वो 2 घंटे की देरी से पहुंचे। 

इसे भी पढ़ें: अखिलेश यादव पर बरसे योगी आदित्यनाथ, बोले- UP में अब पलायन नहीं प्रगति होती है 

सूत्रों ने बताया कि अखिलेश यादव द्वारा लगाए गए आरोप गलत थे। उनका हेलीकॉप्टर ट्रैफिक कंजेशन की वजह से रुका हुआ था। हालांकि रिफ्यूलिंग के बाद उसे तुरंत उड़ान भरने की इजाजत दे दी गई थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।