निर्मला सीतारमण की जमकर हो रही वाहवाही, अधिकारी ने स्टॉफ से मांगा पानी तो बोतल लेकर खुद पहुंचीं केंद्रीय मंत्री

निर्मला सीतारमण की जमकर हो रही वाहवाही, अधिकारी ने स्टॉफ से मांगा पानी तो बोतल लेकर खुद पहुंचीं केंद्रीय मंत्री
प्रतिरूप फोटो
Twitter

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे 32 सेकंड के वीडियो में देखा जा सकता है कि एनएसडीएल के एक कार्यक्रम में कंपनी की एमडी पद्मजा चुंदरू अपना संबोधन दे रही हैं और इसी बीच उन्हें प्यास लगती है और वो अपना संबोधन रोककर स्टॉफ से पानी मांगती हैं और निर्मला सीतारमण फिर उन्हें पानी देती हैं।

नयी दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी ज्यादा वायरल हो रहा है। यह वीडियो मुंबई का बताया जा रहा है। जहां पर एक कार्यक्रम में वित्त मंत्री मे एनएसडीएल की एमडी पद्मजा चुंदरू को पानी देती हुई दिखाई दे रही हैं। निर्मला सीतारमण के इस अंदाज को काफी ज्यादा सराहा जा रहा है और सोशल मीडिया पर यूजर्स जमकर उनका वीडियो शेयर कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस पर वाम अतिवादी ताकतों से संबंध रखने का लगाया आरोप 

निर्मला सीतारमण ने दिया पानी

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे 32 सेकंड के वीडियो में देखा जा सकता है कि एनएसडीएल के एक कार्यक्रम में कंपनी की एमडी पद्मजा चुंदरू अपना संबोधन दे रही हैं और इसी बीच उन्हें प्यास लगती है और वो अपना संबोधन रोककर स्टॉफ से पानी मांगती हैं। ऐसे में पद्मजा चुंदरू की आवाज जैसे ही मंच पर बैठी निर्मला सीतारमण तक पहुंची तो उन्होंने फौरन सीट छोड़कर पद्मजा चुंदरू को पानी की बोतल दी। जिसके बाद पद्मजा चुंदरू ने बोतल को खोलकर पानी पिया और उनका आभार जताया। 

इसे भी पढ़ें: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने निवेशकों को दिया भरोसा, कहा- सरकार दूर करेगी हर बाधा 

निर्मला सीतारमण के इस व्यवहार को देखकर हॉल में मौजूद हर एक शख्स ने तालियां बजाई। पद्मजा चुंदरू ने पानी पीने के बाद कार्यक्रम को दोबारा से संबोधित करना शुरू कर दिया। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी इस कार्यक्रम के वीडियो को साझा किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री का हाव-भाव काफी सराहनी है। निर्मला सीतारमण जी का वीडियो उनके बड़े दिल, विनम्रता और मूल मूल्यों को दर्शाता है। यह इंटरनेट पर दिल को छू लेने वाला वीडियो है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।