क्या बाबुल सुप्रियो को मिलेगी मंत्रिमंडल में जगह ? ममता बनर्जी 4-5 चेहरों को कैबिनेट में करेंगी शामिल

Mamata Banerjee
ANI Image
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हमें हमारे मंत्रिमंडल में फेरबदल करना होगा। मेरी मंत्रिमंडल को भंग करने और नया मंत्रिमंडल बनाने की कोई योजना नहीं है। ऐसे कई विभाग हैं, जिनका कोई समर्पित मंत्री नहीं है। मैं इन सभी विभागों की जिम्मेदारी अकेले नहीं संभाल सकती।

कोलकाता। स्कूल भर्ती घोटाला को लेकर पार्थ चटर्जी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में हैं और उन्हें ममता बनर्जी मंत्रिमंडल से भी बर्खास्त किया जा चुका है। ऐसे में जल्द ही ममता बनर्जी मंत्रिमंडल में फेरबदल के आसार दिखाई दे रहे हैं। कहा जा रहा है कि 4-5 नए चेहरों को ममता बनर्जी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: संसद परिसर में स्कूल भर्ती घोटाला को लेकर भाजपा सांसदों का प्रदर्शन, कहा- हम ममता बनर्जी के इस्तीफे की कर रहे मांग 

मंत्रिमंडल में होगा फेरबदल

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें हमारे मंत्रिमंडल में फेरबदल करना होगा। मेरी मंत्रिमंडल को भंग करने और नया मंत्रिमंडल बनाने की कोई योजना नहीं है। ऐसे कई विभाग हैं, जिनका कोई समर्पित मंत्री नहीं है। मैं इन सभी विभागों की जिम्मेदारी अकेले नहीं संभाल सकती। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम मंत्रिमंडल में चार-पांच नए चेहरों को शामिल करेंगे। यह फेरबदल बुधवार को किया जाएगा।

आपको बता दें कि ममता बनर्जी पंचायत, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, उपभोक्ता मामले और स्वयं सहायता समूह विभाग का कार्यभार संभाल रही है। इसके अलावा पार्थ चटर्जी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने के बाद उनके विभाग की जिम्मेदारी भी ममता बनर्जी के कंधो पर आ गई है।

इसे भी पढ़ें: क्या है राजनीति का चर्चित 'कामराज प्लान'? जिसकी तर्ज पर ममता करवा सकती हैं पूरे कैबिनेट का इस्तीफा 

बाबुल सुप्रियो को मिलेगी जगह ?

माना जा रहा है कि मंत्रिमंडल फेरबदल में ममता बनर्जी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को अलविदा कहकर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए बाबुल सुप्रियो का कद बढ़ा सकती हैं। बाबुल सुप्रियो को केंद्रीय मंत्रालय संभालने का अनुभव हैं, ऐसे में ममता बनर्जी उन्हें अहम विभाग सौंप सकती हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़