संसद परिसर में स्कूल भर्ती घोटाला को लेकर भाजपा सांसदों का प्रदर्शन, कहा- हम ममता बनर्जी के इस्तीफे की कर रहे मांग

BJP MPs protest
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Aug 01, 2022 11:38AM
पश्चिम बंगाल के भाजपा सांसदों ने स्कूल भर्ती घोटाले में राज्य के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी की कथित संलिप्तता को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ संसद परिसर में विरोध- प्रदर्शन किया। पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांता मजूमदार ने कहा कि हम यहां ममता बनर्जी की इस्तीफे की मांग कर रहे क्योंकि उनकी आज्ञा बिना कुछ नहीं हो सकता है।

नयी दिल्ली। संसद के मानसून सत्र की सोमवार को कार्यवाही शुरू होते ही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। इससे पहले पश्चिम बंगाल के स्कूल भर्ती घोटाले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा सांसदों ने ममता बनर्जी इस्तीफा दो के नारे भी लगाए।

इसे भी पढ़ें: संजय राउत की गिरफ्तारी को लेकर खड़गे ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- वो संसद को करना चाहते हैं विपक्ष मुक्त 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पश्चिम बंगाल के भाजपा सांसदों ने स्कूल भर्ती घोटाले में राज्य के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी की कथित संलिप्तता को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ संसद परिसर में विरोध- प्रदर्शन किया। पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांता मजूमदार ने कहा कि हम यहां ममता बनर्जी की इस्तीफे की मांग कर रहे क्योंकि उनकी आज्ञा बिना कुछ नहीं हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: शिवसेना सांसद संजय राउत की गिरफ्तारी के खिलाफ सदन में हंगामे के आसार, कांग्रेस भी समर्थन में उतरी 

पार्थ का पैसों से इनकार !

बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी ने बीते दिनों संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा था कि पैसा मेरा नहीं है। दरअसल, पार्थ चटर्जी को मेडिकल जांच के लिए ईएसआई अस्पताल लाया गया था, जहां पर मीडियाकर्मियों ने उनसे पूछा कि इस साजिश के पीछे किसका हाथ है। जिस पर उन्होंने कहा था कि समय आने पर आपको पता चल जाएगा...पैसा मेरा नहीं है। आपको बता दें कि पार्थ चटर्जी और उनकी सहयोगी कैश क्वीन अर्पिता मुखर्जी की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़