19 साल पहले भारत को पहला पदक दिलाने वाली Anju Bobby George ने Neeraj Chopra को लेकर किया ये कमेंट

Anju Bobby
@AnjuBobbyGeorge
रेनू तिवारी । Jul 24, 2022 1:29PM
अंजू बॉबी जॉर्ज 2003 में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं। 19 साल बाद नीरज चोपड़ा ने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में मेडल जीता। पूर्व लॉन्ग जम्पर टोक्यो ओलंपिक में नीरज के भाला फेंक प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक की सफलता को लेकर उत्साहित हैं।

अंजू बॉबी जॉर्ज 2003 में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं। 19 साल बाद नीरज चोपड़ा ने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में मेडल जीता। पूर्व लॉन्ग जम्पर टोक्यो ओलंपिक में नीरज के भाला फेंक प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक की सफलता को लेकर उत्साहित हैं। अंजू ने नीरज को भारत की अब तक की सर्वश्रेष्ठ एथलीट बताया। 

इसे भी पढ़ें: गोवा बार विवाद पर स्मृति ईरानी का पलटवार, कांग्रेस के खिलाफ बोलती हूं इस लिए बनाया गया मेरी बेटी को निशाना

अंजू के मुताबिक, वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में सिल्वर जीतने के बाद नीरज चोपड़ा के पास साबित करने के लिए और कुछ नहीं है। उन्होंने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों, 2020 ओलंपिक में स्वर्ण जीतने के बाद 2022 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत जीता। इससे पहले नीरज ने 2016 में वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भी गोल्ड जीता था। भारतीय एथलेटिक्स के इतिहास में किसी और ने इतनी आकर्षक उपलब्धि हासिल नहीं की है। 24 वर्षीय नीरज ने पहली पंक्ति की सभी प्रतियोगिताओं में पदक जीते। किसी अन्य भारतीय एथलीट के पास यह मिसाल नहीं है। इसलिए अंजू ने नीरज को देश का अब तक का सर्वश्रेष्ठ एथलीट बताया।

इसे भी पढ़ें: Monkeypox In Delhi | दिल्ली में मंकीपॉक्स वायरस की दस्तक, बिना विदेश यात्रा के एक व्यक्ति हुआ संक्रमित

2003 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में महिलाओं की लंबी कूद में कांस्य पदक जीतने वाली अंजू ने कहा, “प्रतियोगिता की गुणवत्ता का न्याय करें। एथलेटिक्स में 200 से अधिक देश भाग लेते हैं। एथलेटिक्स दुनिया की सबसे कठिन खेल में से एक है। विश्व चैंपियनशिप या एथलेटिक्स में पदक जीतना बिल्कुल भी आसान नहीं है।'' नीरज को सर्वकालिक महानतम क्यों कहा जाता है? अंजु ने कहा, 'बेशक नीरज अब तक के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी हैं। नीरज ने दो पदक जीते। एक ओलंपिक में और एक विश्व चैंपियनशिप में। इसलिए हम उन्हें देश का अब तक का सर्वश्रेष्ठ एथलीट कह सकते हैं।

कुछ दिन पहले नीरज ने स्टॉकहोम में डायमंड लीग में 89.94 की दूरी से भाला फेंककर अपने रिकॉर्ड में सुधार किया था। उनका लक्ष्य विश्व चैंपियनशिप में 90 मीटर तक पहुंचना था। नीरज उस लक्ष्य तक नहीं पहुंच सके। अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के करीब भी नहीं आ सके। हालांकि, वह विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में भाला फेंक में 88.13 मीटर की दूरी के साथ दूसरे स्थान पर रहे। नीरज पदक के रंगों के मामले में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारत के सबसे सफल एथलीट हैं।

अन्य न्यूज़