टीम का ध्यान 2021 विश्व कप के क्वालीफायर पर है: मिताली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 21, 2019   18:32
टीम का ध्यान 2021 विश्व कप के क्वालीफायर पर है: मिताली

मिताली ने कहा कि उनकी टीम का ध्यान 2020 तक विश्व रैंकिंग में शीर्ष चार में अपना स्थान बरकरार रखने पर है जिससे कि 2021 विश्व कप में सीधे प्रवेश मिल जाए।

मुंबई। भारतीय महिला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने कहा है कि उनकी टीम का ध्यान 2021 विश्व कप के क्वालीफायर में खेलने से बचने पर है। मिताली ने हालांकि कहा कि चोटिल हरमनप्रीत कौर की गैरमौजूदगी में विश्व चैंपियन इंग्लैंड का सामना करना बड़ी चुनौती होगी। हरमनप्रीत टखने की चोट के कारण इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार से यहां शुरू हो रही तीन मैचों की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला से बाहर हो गई हैं। मिताली ने कहा कि उनकी टीम का ध्यान 2020 तक विश्व रैंकिंग में शीर्ष चार में अपना स्थान बरकरार रखने पर है जिससे कि 2021 विश्व कप में सीधे प्रवेश मिल जाए। 

मिताली ने श्रृंखला के पहले मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘अंक तालिका में तीसरे स्थान होने के कारण यह श्रृंखला हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। अंक दांव पर लगे हैं और मैं निश्चित तौर पर चाहती हूं कि टीम सीधे प्रवेश करे (अगले विश्व कप में)। यह महत्वपूर्ण है कि इस श्रृंखला से जितना अधिक संभव हो उतने अंक जुटाए जाएं।’’ इंग्लैंड की टीम जब पिछली बार भारत आई थी तो मेजबान टीम ने 2-1 से जीत दर्ज की थी लेकिन मिताली ने कहा कि हरमनप्रीत की गैरमौजूदगी में मेहमान टीम का सामना करना टीम की गहराई दिखाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘इंग्लैंड की टीम मजबूत है, वे विश्व चैंपियन हैं और हमें कड़ी चुनौती देंगे। हमें सकारात्मक क्रिकेट खेलना होगा।’’ मिताली ने कहा, ‘‘उनकी सीनियर खिलाड़ियों की टीम में वापसी हुई है और हम अपनी एक सीनियर खिलाड़ी के बिना खेल रहे हैं। लेकिन यह श्रृंखला यह भी दिखाएगी कि हम इस चुनौती से कैसे निपटते हैं। यह हमारी टीम की गहराई को दर्शाएगा।’’

इसे भी पढ़े: इंग्लैंड के खिलाफ जीत हासिल करने के लिए उतरेगी भारतीय महिला टीम

हरमनप्रीत की गैरमौजूदगी पर मिताली ने कहा कि इस चोटिल खिलाड़ी की कमी खलेगी लेकिन उनकी गैरमौजूदगी युवा खिलाड़ियों को छाप छोड़ने का मौका देगी। विश्व कप में सीधे प्रवेश के लिए मिताली और उनकी टीम को 2020 तक विश्व रैंकिंग में शीर्ष चार में अपना स्थान बरकार रखना होगा। पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन द्वारा कश्मीर के पुलवामा में हमले और इसके बाद पूरे देश में भड़के गुस्से से स्थिति भारतीय टीम के लिए मुश्किल हो गई है। इस तरह की संभावना है कि भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेले। मिताली ने कहा, ‘‘यह हमेशा हमारे दिमाग में रहता है कि शायद हम पाकिस्तान के साथ नहीं खेलें, हम जिसके भी खिलाफ जो भी मैच खेलें, हमें दिमाग में इसी बात के साथ उतरना चाहिए कि हमें ये अंक चाहिए।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।