ISRO का नया मिशन, महिला रोबोट ''व्योममित्र'' करेगी अंतरिक्ष की सैर

ISRO का नया मिशन, महिला रोबोट ''व्योममित्र'' करेगी अंतरिक्ष की सैर

इसरो प्रमुख के सिवन ने बताया कि ह्यूमनॉयड (मानव की तरह रोबोट) अंतरिक्ष में इंसानों की तरह काम करेगी और जीवन प्रणाली के संचालन पर नजर रखेगी। सिवन ने कहा, ‘‘यह अंतरिक्ष में इंसानों की तरह काम करेगी. यह जांच करेगी कि सभी प्रणालियां ठीक ढंग से काम कर रही हैं।

इसरो एक और अंतरिक्ष मिशन के लिए तैयार है। इस बार ये मिशन कुछ खास होना वाला क्योंकि इसरो ने इसके लिए तैयार किया है एक खास ह्यूमनॉयड (मानव की तरह रोबोट)। अंतरिक्ष में भेजे जाने वाले इस ह्यूमनॉयड को नाम दिया गया है व्योम मित्र। व्योमित्र का मतलब आसमान का साथी होता है। इसरो मानवरहित अंतरिक्ष मिशन गगनयान के तहत इसे अंतरिक्ष में भेजेगा। ये रोबोट अतंरिक्ष में इंसान की तरह जांच करने के बाद अपनी रिपोर्ट इसरो को भेजेगी। अंतरिक्ष में जाने के लिए तैयार ह्यूमनॉयड व्योममित्र ने खुद अपना परिचय देते हुए अपने मिशन के बारे में कहा ‘‘सभी को नमस्कार, मैं व्योममित्र हूं और मुझे अर्ध मानव रोबोट के नमूने के रूप में पहले मानवरहित गगनयान मिशन के लिए बनाया गया है।’’इसरो प्रमुख के सिवन ने बताया कि ह्यूमनॉयड (मानव की तरह रोबोट) अंतरिक्ष में इंसानों की तरह काम करेगी और जीवन प्रणाली के संचालन पर नजर रखेगी। सिवन ने कहा, ‘‘यह अंतरिक्ष में इंसानों की तरह काम करेगी. यह जांच करेगी कि सभी प्रणालियां ठीक ढंग से काम कर रही हैं।

बता दें कि ह्यूमनॉयड एक तरह के रोबोट हैं जो इंसानों की तरह चल-फिर सकते हैं और मानवीय हाव-भाव को भी समझ सकते हैं।आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रोग्रामिंग के तहत ह्यूमनॉयड सवालों के भी जवाब दे सकते हैं। इसरो इंसान को अंतरिक्ष में भेजकर नई रिसर्च करने जा रहा है जिसके तहत 2022 में मिशन गगनयान की तैयारी की जा रही है। इसमें चार एस्ट्रोनॉट भेजे जाएंगे। उससे पहले ये मानवरहित मिशन की तैयारी हो रही है।