जेट एयरवेज में हिस्सेदारी लेने के लिये बोली लगा सकते हैं नरेश गोयल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 11 2019 4:21PM
जेट एयरवेज में हिस्सेदारी लेने के लिये बोली लगा सकते हैं नरेश गोयल
Image Source: Google

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई वाले बैंकों के समूह की तरफ से एसबीआई कैप को कर्ज में डूबी एयरलाइन में हिस्सेदारी बिक्री की जिम्मेदारी मिली है।

मुंबई। जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल एयरलाइन में हिस्सेदारी के लिये बृहस्पतिवार को शुरूआती बोली जमा कर सकते हैं।  एसबीआई कैप ने आठ अप्रैल को जेट एयरवेज में हिस्सेदारी बिक्री के लिये रूचि पत्र आमंत्रित किया है।  उसने अंतिम बोली जमा करने की तिथि 10 अप्रैल से बढ़ाकर 12 अप्रैल कर दी है। 

इसे भी पढ़ें: हाईटेक पाइप्स की बिक्री वित्त वर्ष 2018-19 में 19 प्रतिशत बढ़ी

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई वाले बैंकों के समूह की तरफ से एसबीआई कैप को कर्ज में डूबी एयरलाइन में हिस्सेदारी बिक्री की जिम्मेदारी मिली है।  बिक्री के लिये 31 प्रतिशत से 75 प्रतिशत तक हिस्सेदारी रखी गयी है।  गोयल से जुड़े एक सूत्र ने बताया, ‘‘नरेश गोयल जेट एयरवेज के लिये आज (बृहस्पतिवार) शुरूआती बोली जमा कर सकते हैं।'' बोली के नियम गोयल को बिक्री प्रक्रिया में शामिल होने की अनुमति देते हैं।

इसे भी पढ़ें: JSW स्टील का कच्चा इस्पात उत्पादन 2018-19 में 3% बढ़कर 1.67 करोड़ टन

एसबीआई चेयरमैन रजनीश कुमार ने पिछले महीने कहा था, ‘‘बोली में नरेश गोयल या एतिहाद समेत वित्तीय निवेशक, एयरलाइन भाग ले सकते हैं। नियम के अनुसार बोली में भाग लेने को लेकर किसी पर भी पाबंदी नहीं है। ''जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल और उनकी पत्नी अनीता गोयल पिछले महीने समस्या में फंसी एयरलाइन के निदेशक मंडल से हट गये थे। बैंक समूह के समाधान योजना के तहत जेट एयरवेज में गोयल की बहुलांश हिस्सेदारी घटकर नीचे आ गयी है।  जेट एयरवेज पर फिलहाल एसबीआई के अगुवाई वाले कर्जदाताओं के 8,000 करोड़ रुपये बकाया है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story