IND vs WI 3rd ODI Highlights | भारत ने लगाई जीत की हैट्रिक, 119 रनों से जीता आखिरी मैच, 39 साल बाद वेस्टइंडीज में किया क्लीन स्वीप

IND vs WI 3rd ODI Highlights in hindi
ANI
रेनू तिवारी । Jul 28, 2022 8:32AM
दूसरी बार भारतीय पारी के 36 ओवर पूरे होने के बाद बारिश आई और मेहमान टीम की पारी को यहीं तीन विकेट पर 225 रन के स्कोर पर समाप्त कर दिया गया। वेस्टइंडीज को इसके बाद डकवर्थ-लुईस पद्धति के तहत 35 ओवर में 257 रन का लक्ष्य मिला।

 कहते हैं क्रिकेट के मैदान में बड़े-बड़े रिकॉर्ड टूटते हैं और नये रिकॉर्ड बनते हैं।त्रिनिदाद के क्वींस पार्क ओवल में खेले गए तीसरे वनडे में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को 39 साल बात क्लीन स्वीप किया है। फिलहाल भारत की बी टीम शिखर धवन की कप्तानी में खेल रही थी। तीनों मैचों में खिलाडियों का शानदार प्रदर्शन रहा था। किसी भी मैच में ऐसा नहीं हुआ कि  वेस्टइंडीज ने भारतीय के सामने हथियार डाल दिए हो। खेल आखिरी बॉल तक पहुंचे हैं लेकिन आखिर में रोमांचक मुकाबले के बाद टीम इंडिया की ही झोली में जीत गिरी। आखिरी मुकाबले को भारत ने 119 रनों से जीता। इसके साथ ही भारत ने 3-0 से वनडे सीरीज जीत ली। पहली बार टीम इंडिया ने वनडे सीरीज में वेस्टइंडीज को उसके घर में क्लीन स्वीप किया है।

शुभमन गिल बारिश के कारण सिर्फ दो रन से करियर के पहले अंतरराष्ट्रीय शतक से वंचित रह गए लेकिन उनके नाबाद 98 रन और फिर गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से भारत ने वेस्टइंडीज को वर्षा से प्रभावित तीसरे और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को यहां डकवर्थ-लुईस पद्धति के तहत 119 रन से हराकर श्रृंखला में 3-0 से क्लीन स्वीप किया। भारत की पारी के 24 ओवर पूरे होने के बाद बारिश के कारण मैच रुका और मुकाबले को 40 ओवर का कर दिया गया।

इसे भी पढ़ें: तृणमूल सांसद ने सत्तापक्ष पर नफरत को शह देने का आरोप लगाया, ठाकुर ने बंगाल सरकार को विफल बताया

दूसरी बार भारतीय पारी के 36 ओवर पूरे होने के बाद बारिश आई और मेहमान टीम की पारी को यहीं तीन विकेट पर 225 रन के स्कोर पर समाप्त कर दिया गया। वेस्टइंडीज को इसके बाद डकवर्थ-लुईस पद्धति के तहत 35 ओवर में 257 रन का लक्ष्य मिला। गिल ने 98 गेंद में दो छक्कों और सात चौकों की मदद से नाबाद 98 रन की पारी खेली। उन्होंने कप्तान शिखर धवन (58) के साथ पहले विकेट के लिए 113 जबकि श्रेयस अय्यर (44) के साथ दूसरे विकेट के लिए 86 रन की साझेदारी की। इसके जवाब में वेस्टइंडीज की टीम युजवेंद्र चहल (17 रन पर चार विकेट), मोहम्मद सिराज (14 रन पर दो विकेट) औरशार्दुल ठाकुर (17 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने 26 ओवर में 137 रन पर सिमट गई। वेस्टइंडीज ने अपने अंतिम पांच विकेट सिर्फ 18 रन पर गंवाए। टीम की ओर से ब्रेंडन किंग (42) और कप्तान निकोलस पूरन (42) ही टिककर बल्लेबाजी कर पाए जबकि उसके चार बल्लेबाज खाता खोलने में भी नाकाम रहे।

इसे भी पढ़ें: अपनी शाखाओं में कागज के इस्तेमाल को पूरी तरह बंद करने पर विचार कर सकते हैं बैंक

वेस्टइंडीज ने अपनी पिछली पांच में से चार द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखलाएं 0-3 से गंवाई हैं। इस दौरान दो बार भारत जबकि एक बार पाकिस्तान और बांग्लादेश ने उसका सूपड़ा साफ किया। लक्ष्य का पीछा करने उतरे वेस्टइंडीज की शुरुआत खराब रही और उसने दूसरे ओवर में ही काइल मायर्स (00) और शेमार ब्रूक्स (00) के विकेट गंवा दिए जबकि टीम के रनों का खाता भी नहीं खुला था। सिराज ने मायर्स को अपनी पहली ही गेंद पर बोल्ड करने के बाद तीसरी गेंद पर ब्रूक्स को पगबाधा किया।

किंग ने पांचवें ओवर में अक्षर पटेल पर छक्के के साथ पारी की पहली बाउंड्री लगाई जबकि सलामी बल्लेबाज शाई होप ने भी सिराज की गेंद को दर्शकों के बीच पहुंचाया। होप हालांकि 33 गेंद में 22 रन बनाने के बाद चहल की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में चूक गए और विकेटकीपर संजू सैमसन ने उन्हें स्टंप कर दिया। पूरन एक रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब सिराज ने उनका कैच टपका दिया। किंग ने प्रसिद्ध कृष्णा पर लगातार तीन चौकों के साथ दबाव कम करने का प्रयास किया लेकिन अक्षर की सीधी गेंद को चूककर बोल्ड हो गए। उन्होंने 37 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का मारा।

पूरन ने इसके बाद मोर्चा संभालते हुए दीपक हुड्डा की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा। वेस्टइंडीज के रनों का शतक 18वें ओवर में पूरा हुआ। कीसी कार्टी ने बेहद धीमी बल्लेबाजी की और 17 गेंद में पांच रन बनाने के बाद ठाकुर की गेंद को विकेटों पर खेल गए। पूरन भी इसके बाद कृष्णा की गेंद पर मिड आन पर धवन को कैच दे बैठे जिससे वेस्टइंडीज की जीत की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा। उन्होंने 32 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का मारा। ठाकुर ने अगले ओवर में अकील हुसैन (01) को मिड आन पर धवन के हाथों कैच कराके वेस्टइंडीज को सातवां झटका दिया।

चहल ने कीमो पॉल को खाता खोले बिना पवेलियन भेजा और फिर हेडन वाल्श जूनियर (10) को भी स्लिप में धवन के हाथों कैच कराया। उन्होंने जेडन सील्स (00) को गिल के हाथों कैच कराके भारत को जीत दिलाई। इससे पहले धवन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और गिल के साथ मिलकर टीम को शानदार शुरुआत दिलाई। धवन ने जेसन होल्डर पर चौके के साथ खाता खोला जबकि गिल ने जेडन सील्स पर चौके के साथ अपनी पारी की शुरुआत की। दोनों सलामी बल्लेबाजों ने शुरुआत में सतर्कता दिखाई और 12वें ओवर में टीम के रनों का अर्धशतक पूरा किया।

गिल ने हेडन वाल्श (57 रन पर दो विकेट) पर पारी का पहला छक्का जड़ा जबकि धवन ने भी इस स्पिनर पर चौका मारा। उन्होंने कीमो पॉल की गेंद पर दो रन के साथ 62 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। भारत के रनों का शतक 20वें ओवर में पूरा हुआ। गिल और धवन की श्रृंखला में यह दूसरी शतकीय साझेदारी थी। गिल ने भी सील्स की गेंद पर एक रन के साथ 60 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। धवन हालांकि हेडन वाल्श की गुगली पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में गेंद को हवा में लहरा बैठे और मिड विकेट पर वेस्टइंडीज के कप्तान निकोलस पूरन ने कैच लपकने में कोई गलती नहीं की।

उन्होंने 74 गेंद की अपनी पारी में सात चौके जड़े। धवन इस पारी के दौरान वेस्टइंडीज के खिलाफ 1000 रन पूरे करने वाले दुनिया के 22वें बल्लेबाज भी बने। मैच दोबारा शुरू होने पर गिल और अय्यर ने वाल्श के पहले ओवर में ही छक्के जड़ दिए। गिल ने सील्स पर लगातार दो चौके मारे जबकि अय्यर ने होल्डर और अकील हुसैन (43 रन पर एक विकेट) की गेंद को बाउंड्री के दर्शन कराए। अय्यर हालांकि हुसैन की गेंद पर लांग आन पर पॉल को कैच देकर पवेलियन लौटे। उन्होंने 34 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और एक छक्का मारा। सूर्यकुमार यादव छह गेंद में आठ रन बनाने के बाद वाल्श का दूसरा शिकार बने। इसके कुछ देर बाद दोबारा बारिश आ गई और भारतीय पारी को वहीं समाप्त करना पड़ा।

अन्य न्यूज़