शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व पाकिस्तान की विदेश नीति का आधार है: राष्ट्रपति अल्वी

President Alvi
शांतिपूर्ण सहअस्तित्व को पाकिस्तान की विदेश नीति की आधारशिला करार देते पाकिस्तानी राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनका देश दक्षिण एशिया क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और विकास चाहता है।

इस्लामाबाद। शांतिपूर्ण सहअस्तित्व को पाकिस्तान की विदेश नीति की आधारशिला करार देते पाकिस्तानी राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनका देश दक्षिण एशिया क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और विकास चाहता है। ‘पाकिस्तान दिवस’ के उपलक्ष्य में यहां आयोजित एक सैन्य परेड को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति अल्वी ने यह टिप्पणी की। पाकिस्तान दिवस (23 मार्च) के दिन “खराब मौसम” के कारण इसे स्थगित कर दिया गया और अब दो दिन बाद इसका आयोजन किया गया था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इसकार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए क्योंकि कोविड-19 से पीड़ित होने की वजह से फिलहाल वह पृथकवास में हैं। अल्वी ने कहा, “शांतिपूर्ण सहअस्तित्व पाकिस्तान की विदेश नीति की आधारशिला है।

इसे भी पढ़ें: राहुल-सोनिया से शिवराज का सवाल, बदरुद्दीन अजमल से क्यों किया समझौता?

यह हालात की मांग है कि दक्षिण एशियाई नेता क्षेत्र को प्रगति के रास्ते पर ले जाने के लिये नफरत, पूर्वाग्रह और धार्मिक कट्टरपंथ की राजनीति को खारिज करें।” राष्ट्रपति ने कहा कि दक्षिण एशिया में शांति सुनिश्चित करने के लिये कश्मीर मुद्दे का समाधान जरूरी है। भारत पूर्व में पाकिस्तानी नेताओं द्वारा दिये गए कश्मीर के सभी संदर्भों को खारिज कर चुका है और इस बात पर जोर देता है कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न व अविभाज्य हिस्सा है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने पिछले महीने कहा था कि वह आतंकवाद, बैर व हिंसा मुक्त माहौल में पाकिस्तान के साथ सामान्य पड़ोसियों जैसे रिश्ते रखने की इच्छा रखता है और आतंकवाद व वैमनस्य मुक्त माहौल तैयार करने की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है। राष्ट्रपति अल्वी ने अपने संबोधन में कहा कि पाकिस्तान अच्छी मंशा और शांति के साथ आगे बढ़ना चाहता है लेकिन “शांति की हमारी इच्छा को हमारी कमजोरी नहीं समझा जाना चाहिए।”

इसे भी पढ़ें: चोट लगने के बाद आईपीएल से बाहर हुए श्रेयस अय्यर, कहा- जल्द दमदार वापसी करूंगा

अल्वी ने कहा कि पाकिस्तान अपनी क्षेत्रीय संप्रभुता की सुरक्षा करने और किसी भी दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब देने के लिये सक्षम है। उन्होंने कहा, “हम अपनी स्वतंत्रता की हर कीमत पर सुरक्षा करेंगे।” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान समूचे क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और विकास चाहता है और इसके लिये उसने व्यवहारिक कदम भी उठाए हैं। अल्वी ने कहा कि पाकिस्तान एक मजबूत परमाणु शक्ति है और रक्षा क्षेत्र में उसने आत्मनिर्भरता हासिल की है। उन्होंने इस बात पर भी संतोष व्यक्त किया कि पाकिस्तान अपने रक्षा उत्पादों का निर्यात कर रहा है। समारोह की शुरुआत पाकिस्तानी वायुसेना और पाकिस्तानी नौसेना के लड़ाकू विमानों के ‘फ्लाई पास्ट’ से हुई। पाकिस्तानी सेना, वायुसेना और नौसेना की टुकड़ियों के अलावा स्पेशल सर्विसेज ग्रुप्स, फ्रंटियर कोर, रेंजर्स और पुलिस बलों के दस्तों ने भी परेड में हिस्सा लिया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़