HC से राहत मिलने के बाद बग्गा ने केजरीवाल को दी चुनौती, बोले- एक नहीं 100 फर्जी FIR करा दो, हम झुकने वाले नहीं

HC से राहत मिलने के बाद बग्गा ने केजरीवाल को दी चुनौती, बोले- एक नहीं 100 फर्जी FIR करा दो, हम झुकने वाले नहीं
प्रतिरूप फोटो
Twitter

भाजपा नेता की गिरफ्तारी मामले में हाई कोर्ट ने 5 जुलाई तक की राहत देते हुए गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने कहा कि उन पर 5 जुलाई तक कोई कार्रवाई नहीं जाए। कोर्ट से राहत मिलने के बाद तेजिंदरपाल सिंह बग्गा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया और केजरीवाल पर जमकर हमला बोला।

नयी दिल्ली। भाजपा नेता तेजिंदरपाल सिंह बग्गा को गिरफ्तारी मामले में मंगलवार को हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। आपको बता दें कि हाई कोर्ट ने तेजिंदरपाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी पर 5 जुलाई तक की रोक लगा दी है। इसी बीच उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल पर निशाना भी साधा है। उन्होंने कहा कि आप मुझ पर एक नहीं 100 एफआईआर करो दो। इसके बाद भी हम झुकने वाले नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: बग्गा मामले में पंजाब पुलिस ने की थी चूक, इसी वजह से दिल्ली पुलिस भारी पड़ गई 

बग्गा को कोर्ट से मिली राहत

भाजपा नेता की गिरफ्तारी मामले में हाई कोर्ट ने 5 जुलाई तक की राहत देते हुए गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने कहा कि उन पर 5 जुलाई तक कोई कार्रवाई नहीं जाए। कोर्ट से राहत मिलने के बाद तेजिंदरपाल सिंह बग्गा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया और केजरीवाल पर जमकर हमला बोला।

भाजपा नेता ने कहा कि सौ जूते भी खाए और सौ प्याज भी... आज यह कहावत दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर सही साबित होती है। आज देश के न्यायालय ने दर्शा दिया कि किसी भी व्यक्ति को कानून से ऊपर नहीं समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस जिसने अपनी वीरता से आतंकवाद को परास्त किया उस पंजाब पुलिस को अरविंद केजरीवाल ने बदनाम करने का काम किया। 

इसे भी पढ़ें: बग्गा के पिता का बड़ा खुलासा, तजिंदर को AAP में शामिल करना चाहते थे केजरीवाल 

इसी बीच तेजिंदरपाल सिंह बग्गा ने अरविंद केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा कि आप मुझ पर एक नहीं 100 फर्जी एफआईआर दर्ज करा दो, हम झुकने वाले नहीं हैं। मैं आपसे रोज सवाल पूछूंगा कि आपने गुरू गोविंद साहब की बेदअबी करने वालों को 24 घंटे के भीतर जेल में डालने की बात कही थी तो क्यों नहीं डाला ? ड्रग्स माफिआओं को जेल में डालेंगे तो क्यों नहीं डाला ? पंजाब को तोड़ने की मंशा रखने वाले खालिस्तानियों को जेल में क्यों नहीं डाल रहे हैं ? इसके साथ ही उन्होंने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व और कार्यकर्ताओं के साथ-साथ दिल्ली और हरियाणा पुलिस का आभार जताया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।