बग्गा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, मोहाली कोर्ट ने जारी किया वारंट, पंजाब पुलिस को दिया गिरफ्तार कर पेश करने का आदेश

बग्गा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, मोहाली कोर्ट ने जारी किया वारंट, पंजाब पुलिस को दिया गिरफ्तार कर पेश करने का आदेश
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

भाजपा नेता तेजिंदरपाल सिंह बग्गा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। आपको बता दें कि भाजपा नेता के खिलाफ मोहाली कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। इसके साथ ही कोर्ट ने पुलिस को तेजिंदरपाल सिंह बग्गा को गिरफ्तार कर कोर्ट के समक्ष पेश करने का आदेश दिया है। इस मामले में 23 मई को अगली सुनवाई होनी है।

चंडीगढ़। भाजपा नेता तेजिंदरपाल सिंह बग्गा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। आपको बता दें कि भाजपा नेता के खिलाफ मोहाली कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। इसके साथ ही कोर्ट ने पुलिस को तेजिंदरपाल सिंह बग्गा को गिरफ्तार कर कोर्ट के समक्ष पेश करने का आदेश दिया है। इस मामले में 23 मई को अगली सुनवाई होनी है। दरअसल, पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को तेजिंदरपाल सिंह बग्गा को गिरफ्तार किया था लेकिन हरियाणा पुलिस ने उन्हें रोक लिया और फिर भाजपा नेता को कुरुक्षेत्र में दिल्ली पुलिस को सौंप दिया गया था। इस संबंध में तीन राज्यों की पुलिस शामिल हुई थी। 

इसे भी पढ़ें: बग्गा से मिले गोवा के CM, केजरीवाल पर साधा निशाना, बोले- पंजाब पुलिस का हो रहा राजनीतिक इस्तेमाल 

तेजिंदरपाल सिंह बग्गा की गिरफ्तारी मामले को लेकर भाजपा और आम आदमी पार्टी आमने-सामने नजर आ रही है। इसी बीच भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने शनिवार को तेजिंदरपाल सिंह बग्गा की अगुवाई में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के समक्ष विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान 'पगड़ी का यह अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान' के पोस्टर लहराए गए और भारत माता की जय के नारे लगाए गए। 

इसे भी पढ़ें: बग्गा की गिरफ़्तारी पर बोले अनुराग ठाकुर, यह पंजाब में सत्ताधारी दल की मानसिकता को दिखाता है 

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि जब किसी की असलियत जाननी हो तो उसे पावर या पैसा दे दो तो उसकी असलियत सामने आ जाती है। पंजाब की पुलिस को हथियार बनाकर गुंडो की तरह भेजा। उन्होंने कहा कि केजरीवाल से सवाल पूछना अगर गुनाह है तो भाजपा का हर एक कार्यकर्ता यह गुनाह करेगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।