केसीआर को उनके गढ़ में ही घेरने की तैयारी में भाजपा, अमित शाह का तेलंगाना दौरा, हैदराबाद बना अखाड़ा

KCR with Amit Shah
ANI
अंकित सिंह । Sep 16, 2022 4:03PM
तेलंगाना में के चंद्रशेखर राव के नेतृत्व वाली सरकार ने 17 सितंबर को तेलंगाना एकता दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है और वह एक अलग कार्यक्रम में शामिल होंगे। दरअसल, 2024 चुनाव को लेकर केसीआर लगातार राष्ट्रीय राजनीति में दिलचस्पी दिखा रहे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तेलंगाना के दौरे पर जाने वाले हैं। 2024 चुनाव को लेकर भाजपा तेलंगाना में अपनी जमीनी पकड़ को मजबूत करने की कोशिश में जुटी हुई है। इसी कड़ी में भाजपा शासित केंद्र सरकार की ओर से 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर हैदराबाद मुक्ति दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया गया था। दरअसल, हैदराबाद रियासत का 17 सितंबर को ही भारतीय संघ में विलय हुआ था। खबर के मुताबिक हैदराबाद मुक्ति दिवस का उद्घाटन अमित शाह करेंगे। इसके लिए वह तेलंगाना दौरे पर जा रहे हैं। इस दौरान केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी भी मौजूद रहेंगे। दूसरी ओर तेलंगाना सरकार का कार्यक्रम अलग है। 

इसे भी पढ़ें: अमित शाह के हिंदी पर दिए बयान से भड़के स्टालिन, कहा- India को Hindia में बदलने की कोशिशों को रोकना होगा

तेलंगाना में के चंद्रशेखर राव के नेतृत्व वाली सरकार ने 17 सितंबर को तेलंगाना एकता दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया है और वह एक अलग कार्यक्रम में शामिल होंगे। दरअसल, 2024 चुनाव को लेकर केसीआर लगातार राष्ट्रीय राजनीति में दिलचस्पी दिखा रहे हैं। राष्ट्रीय राजनीति में ध्यान केंद्रित करने के लिए उन्होंने तो राष्ट्रीय पार्टी बढ़ाने का भी ऐलान कर दिया है। अमित शाह के हैदराबाद दौरे को लेकर राज्य की राजनीति गर्म हो गई है। आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री पद की लालसा रखने वाले के चंद्रशेखर राव को भाजपा अब उन्हीं के गढ़ में घेरने की तैयारी में है। यही कारण है कि भाजपा आलाकमान तेलंगाना पर लगातार अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है। 

इसे भी पढ़ें: बच्चों के जन्म पर सोने की अंगूठी, दिव्यांगों को उपकरण वितरिण, 'हर घर सुशासन' कार्यक्रम, PM के जन्मदिन वाले दिन अलग-अलग तरह के उत्सवों के ऐलान

अमित शाह का तेलंगाना दौरा 2 दिनों का हैं जिसमें वह भाजपा के कार्यक्रमों में भी शामिल होंगे। खबर के मुताबिक के पार्टी के कोर ग्रुप के साथ अमित शाह एक अहम बैठक करेंगे। अमित शाह की इस बैठक में तेलंगाना पार्टी प्रमुख बंदी संजय, पार्टी के सांसद और अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे। केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी और तरुण चुग भी इस कार्यक्रम में मौजूद होंगे। जानकारी के मुताबिक 2024 चुनाव को लेकर अमित शाह पार्टी के नेताओं को नई दिशा निर्देश देंगे। साथ ही साथ उनके मनोबल को भी बढ़ाएंगे। इसके अलावा मुनुगोडे सीट पर होने वाले उपचुनाव में भाजपा के लिए एक बड़ी चुनौती है। दरअसल, पिछले महीने इस सीट से विधायक के राजगोपाल रेड्डी ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद यहां उपचुनाव हो रहे हैं। ऐसे में भाजपा यहां हर हाल में जीत हासिल करना चाहेगी। 

अन्य न्यूज़