दिल्ली आबकारी नीति मामले में ED का यूटर्न, मनीष सिसोदिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग केस से जांच एजेंसी का इनकार

Manish Sisodia
ANI Image
ईडी के शीर्ष अधिकारी ने इस बात से इनकार किया कि जांच एजेंसी ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। जबकि ईडी के अतिरिक्त निदेशक सोनिया नारंग ने समाचार एजेंसी एएनआई को मनीष सिसोदिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले की पुष्टि की थी।

नयी दिल्ली। दिल्ली आबकारी नीति मामले में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ कार्रवाई को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यूटर्न मारा है। ईडी के शीर्ष अधिकारी ने इस बात से इनकार किया कि जांच एजेंसी ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। जबकि ईडी के अतिरिक्त निदेशक सोनिया नारंग ने समाचार एजेंसी एएनआई को मनीष सिसोदिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले की पुष्टि की थी।

इसे भी पढ़ें: विपक्षी दलों में चोरी और फिर सीनाजोरी दिखाने का हो गया चलन: सिसोदिया मामले में बोले नरेंद्र सिंह तोमर 

इससे पहले खबर सामने आई थी कि ईडी ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है। हालांकि जांच एजेंसी ने इससे इनकार किया है। आपको बता दें कि सीबीआई ने आबकारी नीति 2021-22 में कथित भ्रष्टाचार को लेकर मामला दर्ज किया था। जिसके बाद अरविंद केजरीवाल सरकार ने आबकारी नीति को वापस ले लिया था।

सीबीआई ने पिछले हफ्ते आबकारी नीति मामले के क्रियान्वयन में कथित भ्रष्टाचार के सिलसिले में मनीष सिसोदिया के आधिकारिक आवास समेत कई अन्य स्थानों पर छापेमारी की थी। दिल्ली के पूर्व आबकारी आयुक्त अरवा गोपी कृष्ण के परिसरों सहित 7 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में तलाशी ली गई।

इसे भी पढ़ें: 'पहली बार BJP को याद आ रही है नानी', केजरीवाल बोले- गुजरात में सरकार बनने पर फरवरी में होंगे तलाटी के पेपर 

मनीष सिसोदिया उन 15 लोगों में शामिल हैं जिनके खिलाफ सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की है। इस मामले में आबकारी अधिकारियों, शराब कंपनी के अधिकारियों, डीलरों के साथ कुछ अज्ञात लोक सेवकों और निजी व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीबीआई ने हाल ही में ईडी को दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े दस्तावेज सौंपे थे। जिसको लेकर कहा जा रहा था कि जल्द ही मनीष सिसोदिया के खिलाफ ईडी मामला दर्ज कर सकती है।

अन्य न्यूज़