झारखंड कांग्रेस में बड़ी फूट, आधा दर्जन से अधिक विधायक गिराने वाले थे सरकार ! CID की जांच में कई खुलासे

Jharkhand
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Aug 02, 2022 11:18AM
तीन विधायकों की गिरफ्तारी के बाद जानकारी सामने आई कि झारखंड से ही पश्चिम बंगाल के इंटेलिजेंस को इनपुट दिए गया कि कुछ विधायक सरकार गिराने से जुड़ी गतिविधियों में शामिल हैं। ऐसा इसलिए भी किया गया क्योंकि कोलकाता के सादर स्ट्रीट स्थित एक होटल का सीसीटीवी सामने आया।

पश्चिम बंगाल के हावड़ा से भारी नकदी के साथ पकड़े गए कांग्रेस के तीन विधायकों से सीआईडी पूछताछ कर रही है। ऐसे में कई चौंका देने वाले खुलासे हो रहे हैं। कहा जा रहा है कि आधा दर्जन से अधिक विधायक सरकार गिराने की साजिश और खरीद-फरोख्त में शामिल हो सकते हैं। कई विधायकों और कांग्रेस कोटे के मंत्रियों पर भी गाज गिर सकती है। ऐसे में सीआईडी अपनी जांच का दायरा बढ़ाते हुए कुछ और विधायकों से पूछताछ कर सकती है। कांग्रेस ने पहले ही दावा किया था कि झारखंड में ऑपरेशन लोटस विफल हो गया है।

इसे भी पढ़ें: सोरेन सरकार गिराने के लिए 10 करोड़ और मंत्री पद का आश्वासन, कांग्रेस विधायक ने लगाए गंभीर आरोप, असम CM ने किया खंडन 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक पूर्व प्रदेश अध्यक्ष समेत कई विधायकों ने असम व कोलकाता के एक मोबाइल नंबर पर 50 से अधिक बार फोन किया। जिसके बाद सरकार गिराने की साजिश के आरोपों को बल मिलने लगा है।

तीन विधायकों की गिरफ्तारी के बाद जानकारी सामने आई कि झारखंड से ही पश्चिम बंगाल के इंटेलिजेंस को इनपुट दिए गया कि कुछ विधायक सरकार गिराने से जुड़ी गतिविधियों में शामिल हैं। ऐसा इसलिए भी किया गया क्योंकि कोलकाता के सादर स्ट्रीट स्थित एक होटल का सीसीटीवी सामने आया। जिसके मुताबिक, होटल के एक कमरे में तीनों विधायकों ने एंट्री की और फिर कुछ देर बाद वो कमरे से बाहर निकले।

सरकार गिराने की हो रही कोशिश ?

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भाजपा पर बड़ा हमला करते हुए दावा किया कि पिछले कुछ दिनों में विधायकों के ऊपर जो प्रयास हो रहा है उससे कहा जा सकता है कि यह लोग (भाजपा) अपने नापाक इरादे में विफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की हालत बिना पानी के मछली जैसी हो चुकी हैं। वह बिना सत्ता के एक पल नहीं रह सकते और यह देश के लोकतंत्र पर एक हमला है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा एक नयी राजनीतिक परिभाषा बनाने की कोशिश कर रही है और भाजपा की राजनीतिक महत्वाकांक्षा बहुत अधिक है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे देश में लोकतंत्र पर हमला हो रहा है लेकिन हम उनके कृत्यों से भयभीत नहीं हैं। हम जानते हैं कि वे किस स्तर तक गिर सकते हैं। जनता भाजपा को करारा जवाब देगी। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने भारी कैश के साथ पकड़े गए तीनों विधायकों को किया निलंबित, जयराम रमेश बोले- ऑपरेशन लोटस बेनकाब हो गया 

10 करोड़ रुपए का मिला था ऑफर

इससे पहले बेरमो निर्वाचन क्षेत्र के कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल सिंह का एक पत्र सामने आया था। जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि तीनों विधायकों ने उन्हें गुवाहाटी ले जाने और मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से मिलने के लिए कोलकाता बुलाया था। उन्होंने कहा था कि हिमंत बिस्वा सरमा ने कथित तौर पर नई सरकार में प्रति विधायक 10 करोड़ रुपए के अलावा एक निश्चित मंत्री पद का आश्वासन दिया, जो वर्तमान झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) और कांग्रेस सरकार को गिराने के बाद बन सकती है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़