खट्टर ने कहा- खतरे की आशंका के आधार पर गुरमीत राम रहीम को दी गई है सुरक्षा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2022   20:23
खट्टर ने कहा- खतरे की आशंका के आधार पर गुरमीत राम रहीम को दी गई है सुरक्षा

उसको अगर खतरा है तो सरकार का कर्तव्य है कि उसे सुरक्षा मुहैया कराए। ऐसा नहीं है कि उसने (गुरमीत राम रहीम) जेड प्लस सुरक्षा मांगी है, जब तक उसे खतरे की आशंका है, तब तक सुरक्षा देना हमारा कर्तव्य है।

चंडीगढ़,  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को कहा कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को खतरे की आशंका के आधार पर जेड प्लस सुरक्षा दी गई है। उन्होंने कहा कि एक कैदी, चाहे वह जेल में हो या ‘फरलो’ पर बाहर हो, को अगर खतरा है तो सरकार का कर्तव्य है कि उसे सुरक्षा मुहैया कराए। अधिकारियों के मुताबिक, डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को हरियाणा की एक जेल से ‘फरलो’ (एक प्रकार की छुट्टी) पर 21 दिनों की रिहाई के दौरान जेड प्लस सुरक्षा दी गयी है क्योंकि सिंह की जान को खालिस्तान समर्थक तत्वों से खतरा है।

डेरा प्रमुख सिरसा में अपने आश्रम में दो महिला अनुयायियों के साथ बलात्कार के आरोप में 20 साल की जेल की सजा काट रहा है। पंचकुला में एक कार्यक्रम से इतर खट्टर ने संवाददाताओं से कहा, एक व्यक्ति को खतरे की आशंका के आधार पर सुरक्षा दी जाती है। एक कैदी, चाहे वह जेल में हो या ‘फरलो’ पर बाहर हो, उसको अगर खतरा है तो सरकार का कर्तव्य है कि उसे सुरक्षा मुहैया कराए। ऐसा नहीं है कि उसने (गुरमीत राम रहीम) जेड प्लस सुरक्षा मांगी है, जब तक उसे खतरे की आशंका है, तब तक सुरक्षा देना हमारा कर्तव्य है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।