सरकार गठन के बाद चंद्रकांत पाटिल ने शिवसेना को लताड़ा, बोले- ये हिंदुत्व छोड़ने के लिए तैयार हैं

सरकार गठन के बाद चंद्रकांत पाटिल ने शिवसेना को लताड़ा, बोले- ये हिंदुत्व छोड़ने के लिए तैयार हैं

चंद्रकांत दादा पाटिल ने कहा कि शिवसेना ने ढाई-ढाई साल की बात को लेकर भाजपा के साथ कभी भी बैठक नहीं की। उनके पास कांग्रेस और एनसीपी के साथ बैठने के लिए समय था।

मुंबई। महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस द्वारा मुख्यमंत्री पद की शपथ लिए जाने का बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत दादा पाटिल ने शिवसेना पर हमला बोला और कहा कि प्रदेश की जनता ने भाजपा और शिवसेना को स्पष्ट बहुमत दिया था, लेकिन शिवसेना ने इस जनादेश का अपमान किया। पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विकल्प खुले होने की बात कही। जनता ने यह खेल देखा।

इसे भी पढ़ें: अजीत पवार ने महाराष्ट्र की पीठ में घोपा खंजर, शरद पवार का इससे कोई लेना-देना नहीं: राउत

चंद्रकांत दादा पाटिल ने कहा कि शिवसेना ने ढाई-ढाई साल की बात को लेकर भाजपा के साथ कभी भी बैठक नहीं की। उनके पास कांग्रेस और एनसीपी के साथ बैठने के लिए समय था। शिवसेना हिंदुत्व छोड़ने के लिए तैयार है, शिव को छोड़ने के लिए तैयार है। इसी बीच चंद्रकांत दादा पाटिल ने शिवसेना को नसीहत दी कि अब तो आप चुप हो जाएं।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।