राजनीतिक एजेंडे के लिए मनमानी व्याख्या करना मोदी की आदत: अशोक गहलोत

modi-s-habit-of-arbitrary-interpretation-of-political-agenda-says-ashok-gehlot
हमारा इतिहास त्याग, बलिदान और प्रतिबद्धता का रहा है। देश की आजादी से लेकर नये भारत के निर्माण में कांग्रेस की भूमिका देशवासी जानते हैं। कांग्रेस अपने शानदार इतिहास के साथ देश का वर्तमान एवं भविष्य है।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस पार्टी पर लगाए गए आरोपों को दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय बताते हुए कहा है कि अपने राजनीतिक एजेंडे के लिए मनमानी व्याख्या करना उन मोदी की आदत में शामिल है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गहलोत ने ट्वीटर पर लिखा है, ‘‘प्रधानमंत्री ने अपने ब्लॉग में कांग्रेस पार्टी पर जिस तरह के आरोप लगाए हैं वे दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय हैं। अपने राजनीतिक एजेंडे के लिए मनमानी व्याख्या करना उनकी आदत में शामिल है।’’

उल्लेखनीय है कि मोदी ने अपने ब्लाग में महात्मा गांधी के दांडी मार्च का जिक्र करते हुए आरोप लगाया है, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस की संस्कृति गांधीवादी विचारधारा के बिल्कुल विपरीत हो चुकी है।’’ गहलोत ने पलटवार करते हुए कहा है, ‘‘देश की आजादी से लेकर नये भारत के निर्माण में कांग्रेस की भूमिका देशवासी जानते हैं।’’ मुख्यमंत्री के अनुसार, ‘‘तिरंगे झंडे वाली महात्मा गांधी की इसी पार्टी ने पूरे मुल्क को एक और अखंड रखा। हमारा इतिहास त्याग, बलिदान और प्रतिबद्धता का रहा है। देश की आजादी से लेकर नये भारत के निर्माण में कांग्रेस की भूमिका देशवासी जानते हैं। कांग्रेस अपने शानदार इतिहास के साथ देश का वर्तमान एवं भविष्य है।’’

इसे भी पढ़ें: भाजपा का मिशन 350 प्लस, प्रचार-प्रसार का चुनावी प्लान तैयार

गहलोत के अनुसार, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार ने पूरे पांच साल कांग्रेस मुक्त भारत के सपने पर ही काम किया। देश तो कांग्रेस मुक्त नहीं हुआ न होगा लेकिन इस चक्कर में देशवासियों के साथ किये तमाम वादे जुमले बनकर रह गए। उनकी सरकार अपने वादों पर खरी नहीं उतरी।’’ गहलोत ने मोदी पर झूठ बोलकर देशवासियों से धोखा देने का आरोप लगाया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़