सेना की उपलब्धि के पीछे छिपकर चुनाव जीतना चाहते हैं नरेंद्र मोदी: गहलोत

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Apr 11 2019 7:43PM
सेना की उपलब्धि के पीछे छिपकर चुनाव जीतना चाहते हैं नरेंद्र मोदी: गहलोत
Image Source: Google

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह सेना की उपलब्धि है और हमें उस पर गर्व है। गहलोत जयपुर से कांग्रेस प्रत्याशी ज्योति खंडेलवाल के समर्थन में एक सभा को संबोधित कर रहे थे।

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेना की उपलब्धि के पीछे छिपकर, धर्म और राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव जीतना चाहते हैं। गहलोत ने कहा कि इंदिरा गांधी के जमाने में पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए गए पर उसके नाम पर राजनीति नहीं की गयी। इंदिरा गांधी ने कभी उस पर वोट नहीं मांगे, यह नहीं कहा कि मेरी यह बहुत बड़ी उपलब्धि है। यही कहा कि यह सेना की उपलब्धि है और हमें उस पर गर्व है। गहलोत जयपुर से कांग्रेस प्रत्याशी ज्योति खंडेलवाल के समर्थन में एक सभा को संबोधित कर रहे थे। 

इसे भी पढ़ें: भाजपा नागरिकता संशोधन विधेयक पारित कराने को लेकर संकल्पबद्ध: मोदी

उन्होंने कहा कि लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर चीज का श्रेय खुद लेना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सैनिकों की बहादुरी के पीछे छिपकर चुनाव जीतना चाहते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक की गयी... हम सैनिकों को, उनकी बहादुरी को सलाम करते हैं लेकिन ये उसके नाम पर आज चुनाव जीतना चाहते हैं... आप (मोदी) धर्म के नाम पर, राष्ट्रवाद के नाम पर चुनाव जीतना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार के शासन में पूरे देश में भय का, आतंक का, हिंसा का माहौल हो गया है। 

इसे भी पढ़ें: कनखल में बाबा रामदेव ने डाला मतदान, PM के व्यक्तित्व को हिमालय जैसा बताया

गहलोत ने कहा कि केंद्र में संप्रग की सरकार आई तो हम चाहेंगे कि नोटबंदी की यह जांच हो कि इसमें कितना बड़ा घोटाला हुआ है। पूरे देश को बर्बाद कर दिया, मजदूरों को घरों में बैठना पड़ गया, धंधे बंद हो गए, व्यापारियों के व्यापार चौपट हो गए। कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया। गहलोत ने कहा कि भाजपा के पास ट्रक भर-भर के पैसा जा रहा है उसके ऑफिस बन रहे हैं पूरे देश में। केवल उत्तर प्रदेश में ही उसके 56 ऑफिस बन गए। वह बताए कि इतना पैसा कहां से आ रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी के जुमले तो बहुत हो चुके हैं पर देश में लोकतंत्र और संविधान खतरे में है।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video