नागरिकों और उनकी संस्कृति से बनता है राष्ट्र: NEP 2022 के 2 साल पूरे होने पर बोले अमित शाह

Amit Shah
ANI Image
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कोई भी देश ज़मीनों, नदियों, पहाड़ों आदि से नहीं बनता बल्कि उसके नागरिकों से बनता है और उसके नागरिकों से मिली हुई जनता की संस्कृति और संस्कार से इस राष्ट्र का निर्माण होता है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रतिभावान नागरिक बनाने की मूल कल्पना के साथ बनाई गई नीति है।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के दो साल पूरे होने पर एक कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय शिक्षा नीति की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को सभी लोग अलग-अलग दृष्टि देखते हैं। कोई इसमें रोजगार देखता है, कोई बच्चों की अभिव्यक्ति दिखती है, किसी को बेरोजगारी की समस्या का समाधान इत्यादि चीजें दिखाई देती होंगी।

इसे भी पढ़ें: 'GIFT City में भारत के भविष्य का जुड़ा है विजन', PM मोदी बोले- देश में आ रहा रिकॉर्ड FDI, इन्वेस्टमेंट से पैदा हो रहे नए अवसर 

उन्होंने कहा कि कोई भी देश ज़मीनों, नदियों, पहाड़ों आदि से नहीं बनता बल्कि उसके नागरिकों से बनता है और उसके नागरिकों से मिली हुई जनता की संस्कृति और संस्कार से इस राष्ट्र का निर्माण होता है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रतिभावान नागरिक बनाने की मूल कल्पना के साथ बनाई गई नीति है।

अमित शाह ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने बहुत कम शब्दों में अच्छे तरीके से शिक्षा का उद्देश्य आलिखित किया था। जो शिक्षा आमजन को जीवन के संघर्ष के लिए समर्थ नहीं बनाती, जो शिक्षा बच्चे को चरित्रवान नहीं बनाती, जो शिक्षा बच्चे में परोपकार का भाव नहीं पैदा करती वे शिक्षा, शिक्षा कहलाने के लायक नहीं है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़