केरल में प्रियंका गांधी का चुनाव प्रचार, विपक्ष को धोखाधड़ी और घोटालों की हुकूमत बताया

Priyanka Gandhi
कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये मंगलवार को प्रचार अभियान के दौरान प्रदेश की माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह धोखाधड़ी और घोटालों वाली सरकार है।

तिरुवनंतपुरम। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा ने केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये मंगलवार को प्रचार अभियान के दौरान प्रदेश की माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह धोखाधड़ी और घोटालों वाली सरकार है, जो साम्यवादी घोषणा पत्र के बजाय उद्योगपतियों के घोषणापत्र पर अमल कर रही है। वाद्रा ने कहा कि वाम लोकतांत्रिक मोर्चे (एलडीएफ) ने साम्यवादी घोषणा पत्र के प्रति निष्ठा का संकल्प लिया था लेकिन असल में यह केंद्र की मोदी सरकार की तरह ‘उद्योगपतियों के घोषणा पत्र’ पर अमल कर रही है।

इसे भी पढ़ें: नंदीग्राम में मतदान वाले दिन केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां होंगी तैनात

उन्होंने उत्तर प्रदेश में ट्रेन यात्रा के दौरान केरल की ननों का कथित रूप से उत्पीड़न करने के लिए भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की आलोचना करते हुए दावा किया कि गृह मंत्री अमित शाह ने इसलिए घटना की निंदा की क्योंकि यह चुनाव का समय है। प्रियंका केरल की दो दिन की यात्रा पर हैं और उन्होंने कई जनसभाओं को संबोधित किया और रोड शो किए। कांग्रेस महासचिव ऐसे वक्त में प्रदेश की यात्रा पर हैं जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी राज्य में हैं और उन्होंने पलक्कड़ में एक जनसभा को संबोधित किया जहां भाजपा ने ‘मेट्रोमेन’ ई श्रीधरन को उतारा है। कांग्रेस महासचिव ने माकपा नीत एलडीएफ सरकार और भाजपा की केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, “ आपने पिछले पांच सालों में काफी संघर्ष किया है। आपने कष्ट झेले। केंद्र सरकार की कई नीतियों ने आपको नुकसान पहुंचाया है और एलडीएफ नीतियों ने आपको और अधिक नुकसान पहुंचाया। ” उन्होंने कहा, “ नोटबंदी... त्रुटिपूर्ण जीएसटी, कोरोना महामारी ,फिर बिना किसी योजना के लॉकडाउन लगा देना।” वाद्रा ने कहा कि अप्रत्याशित रूप से कीमतें बढ़ रही हैं और जरूरी चीजें पहुंच से बाहर होती जा रही हैं। उन्होंने कहा कि भले ही किसी समय गैस सिलेंडर निशुल्क दिए गए हों, “लेकिन आज, आप उन्हें भरवा नहीं सकते हैं।”

इसे भी पढ़ें: छिंदवाड़ा के व्यापारियों ने 31 मार्च से 03 अप्रैल तक व्यापार बंद करने का लिया निर्णय

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य सरकारें, दोनों संपत्तियों को उद्योगपतियों को सौंपने पर तवज्जो दे रही हैं। कांग्रेस नेता यूडीएफ के चुनाव घोषणा पत्र में सूचीबद्ध विभिन्न वादों के बारे में बताया और पार्टी की न्यूनतम आय गारंटी योजना ‘न्याय योजना’का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, “ आप केरल में जो करेंगे, वह देश के बाकी हिस्सों के लिए रास्ता दिखाएगा। यह एक बड़ी जिम्मेदारी है और मुझे विश्वास है कि आप इसका पूरी तरह से निर्वहन करेंगे।” पूनथुरा की रैली में पूर्व केंद्रीय मंत्री और तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर और पूर्व राज्य मंत्री वी एस शिवकुमार भी मौजूद थे।

वाद्रा ने अलप्पुझा, कोल्लम और तिरुवनंतपुरम जिलों के विभिन्न निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केरल की एलडीएफ सरकार और केंद्र की भाजपा नीत राजग सरकार पर हमला बोला। उन्होंने सोना तस्करी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि वाम सरकार केरल के असली सोने यानी राज्य की जनता को पहचानने में नाकाम रही। सोना घोटाला राजनयिक चैनलों के माध्यम से 14.82 करोड़ रुपये के लगभग 30 किलोग्राम सोने की पिछले साल जुलाई में जब्ती से संबंधित है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़