Dating Destination पर गुजरात में High Level politics, कांग्रेस के घोषणा पत्र की यह है Inside Story

  •  अंकित सिंह
  •  फरवरी 22, 2021   15:26
  • Like
Dating Destination पर गुजरात में High Level politics, कांग्रेस के घोषणा पत्र की यह है Inside Story

भाजपा ने तो साफ-साफ यह कह दिया है कि कांग्रेस भारतीय संस्कृति के खिलाफ जा रही है। भाजपा कांग्रेस पर हमला करते हुए यह कह रही है कि जिस पार्टी में जैसे संस्कार होंगे वैसा ही वह वादा करेगी। भाजपा ने तो इसे लव जिहाद को बढ़ावा देने वाला कदम भी बता दिया।

गुजरात में हुए नगर निकाय चुनाव सभी पार्टियों के लिए किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं था। हालांकि मुकाबला कांग्रेस और सत्ताधारी भाजपा के बीच में ही थी। लोगों को साधने के लिए सभी पार्टियों की ओर से घोषणा पत्र भी जारी किया गया। लेकिन सबसे ज्यादा चौंकाने वाला घोषणा पत्र कांग्रेस की ओर से आया। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में युवाओं को साधने के लिए डेटिंग डेस्टिनेशन बनाने का वादा किया है। सियासी गलियारे के लिए भी यह चौंकाने वाला वादा है। कांग्रेस के इस वादे पर भाजपा भी हमलावर हो रही है। भाजपा ने तो साफ-साफ यह कह दिया है कि कांग्रेस भारतीय संस्कृति के खिलाफ जा रही है। भाजपा कांग्रेस पर हमला करते हुए यह कह रही है कि जिस पार्टी में जैसे संस्कार होंगे वैसा ही वह वादा करेगी। भाजपा ने तो इसे लव जिहाद को बढ़ावा देने वाला कदम भी बता दिया।

इसे भी पढ़ें: इंदौर के एक अस्पताल में लिफ्ट गिरी, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित लिफ्ट में मौजूद थे पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता

कांग्रेस ने अपने इस वादे का बचाव करते हुए कहा कि हमें युवाओं के भावनाओं को समझने की जरूरत है। लेकिन सवाल यह है कि आखिर कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में ऐसे वादे क्यों किया? दरअसल, ऐसे कई मौके भी आए हैं जब कांग्रेस नासमझी में कुछ ऐसे दावे कर जाती है जिसका खामियाजा उसे उठाना पड़ता है। राजनीतिक विशेषज्ञ तो इसे सोचा समझा कांग्रेस का दावा मान रहे हैं। उनका दावा है कि कांग्रेस ने अपने इस वादे के सहारे युवाओं को अपनी ओर आकर्षित करने का दांव खेला है। कांग्रेस का एक तबका यह मानता है कि 18 साल से ज्यादा उम्र के युवाओं को यह घोषणा पत्र काफी आकर्षित कर सकती है। इससे पार्टी युवाओं को अपने साथ जोड़ने की भी कोशिश कर रही है। पार्टी नेताओं का मानना है कि राहुल गांधी भी यह कह चुके हैं कि छात्र और युवा हमारे साथ आना चाहते हैं। ऐसे में हमें उन्हें बताना होगा कि हम कैसे अलग सोच रखते हैं। युवाओं को हम यह भी बताना चाहते हैं कि हमारी पार्टी प्रगतिशील है और समय के साथ बदलती रहती है। 

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने ईंधन के बढ़ते दाम को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना

जाहिर सी बात है कि आने वाले दिनों में कांग्रेस के इस घोषणापत्र का चुनाव के साथ-साथ अन्य पार्टियों के भी घोषणा पत्र में असर देखने को मिल सकता है। भाजपा को छोड़ शायद अन्य पार्टियां कांग्रेस के इस वादे से आगे बढ़ना चाहेगी। युवाओं को लुभाने के लिए पार्टियां डेटिंग डेस्टिनेशन से भी आगे बढ़ सकती हैं। वर्तमान में देखे तो भारतीय राजनीति में युवा निर्णायक फैक्टर हैं। युवाओं को आकर्षित करने के लिए कई पार्टियों के द्वारा फ्री मोबाइल और लैपटॉप दिए जाने की भी घोषणा की जा चुकी है। इसका फायदा भी बहुत सारी पार्टियों को हुआ है। 

इसे भी पढ़ें: पुडुचेरी : कांग्रेस सरकार की विश्वास मत में हार, सीएम नारायणसामी ने एलजी को सौंपा इस्तीफा

हालांकि, सवाल यह है कि आखिर भाजपा इतना आक्रमक होकर कांग्रेस के डेटिंग डेस्टिनेशन वाले वादे पर विरोध क्यों कर रही है? जाहिर सी बात है कि भाजपा कांग्रेस के घोषणा पत्र का विरोध नहीं करेगी तो क्या करेगी? लेकिन कांग्रेस का घोषणा पत्र भाजपा के एजेंडे के खिलाफ भी है। भाजपा जहां राष्ट्रवादी विचारधारा में विश्वास करती है तो वहीं कांग्रेस का यह कदम प्रगतिशील और पश्चिमी सभ्यता पर केंद्रित है। ऐसे में दोनों दलों के बीच डेटिंग डेस्टिनेशन को लेकर टकराव की स्थिति जरूर आएंगी। इसके अलावा भाजपा को यह भी लगता है इस तरीके के कदम कांग्रेस को एक बार फिर से मजबूत कर सकती है। खासकर के युवा वर्ग कांग्रेस के साथ एक बार फिर से जुड़ सकती है। यही कारण है कि भाजपा लगातार इससे भारतीय संस्कृति के खिलाफ बता रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


मध्य प्रदेश में कोरोना के चलते भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से लग सकता है रात्रि कर्फ्यू

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 6, 2021   00:01
  • Like
मध्य प्रदेश में कोरोना के चलते भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से लग सकता है रात्रि कर्फ्यू

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर में लंदन वैरिएंट से प्रभावित 6 मरीज मिले हैं। लंदन वैरिएंट का संक्रमण अधिक घातक है। इसकी संक्रामक क्षमता तुलनात्मक रूप से अधिक है। इंदौर में पिछले सप्ताह प्रतिदिन औसतन 151 प्रकरण बढ़े हैं।

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भोपाल और इंदौर में कोरोना के प्रकरणों में लगातार वृद्धि हो रही है। मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग पर सख्ती जरूरी है। यदि अगले 3 दिन में कोरोना के प्रकरणों में गिरावट नहीं हुई तो 8 मार्च से भोपाल और इंदौर में रात्रि कर्फ्यू लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने यह निर्देश शुक्रवार को मंत्रालय में कोरोना की समीक्षा बैठक में दिए। बैठक में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान उपस्थित थे।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना के 457 मरीज मिले, इंदौर में सबसे अधिक 176 कोरोना संक्रमित मिले

कोरोना का लंदन वैरिएंट अधिक घातक, इंदौर को कर रहा है प्रभावित

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर में लंदन वैरिएंट से प्रभावित 6 मरीज मिले हैं। लंदन वैरिएंट का संक्रमण अधिक घातक है। इसकी संक्रामक क्षमता तुलनात्मक रूप से अधिक है। इंदौर में पिछले सप्ताह प्रतिदिन औसतन 151 प्रकरण बढ़े हैं। इसी प्रकार भोपाल में 78, जबलपुर में 16, बैतूल में 13 और छिंदवाड़ा व उज्जैन में 11-11 प्रकरणों की प्रतिदिन औसतन वृद्धि हुई है। इंदौर में पिछले 15 दिनों में प्रकरणों की संख्या दोगुनी हो गई है। इस गंभीरता को देखते हुए इंदौर और भोपाल में सावधानियाँ बरतना और सख्ती करना आवश्यक है।

मास्क नहीं लगाने पर होगी कार्यवाही

मुख्यमंत्री ने दुकानदारों से सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने, मास्क लगाने और अन्य सावधानियाँ बरतने की अपील की। उन्होंने कहा कि दुकानदार दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करें जो दुकानदार बिना मास्क के दुकान पर बैठेंगे या बिना मास्क लगाए व्यक्तियों को सामान देंगे उन पर कार्यवाही की जाएगी। साथ ही सामान्य तौर पर रोको-टोको के लिए भी भोपाल और इंदौर में तत्काल प्रभाव से अभियान आरंभ किया जाए।

 

इसे भी पढ़ें: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा किसान सम्मेलन के नाम पर नौटंकी कर रहे दिग्विजय सिंह

महाराष्ट्र से लगे जिलों पर लगातार निगरानी रखें

मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, उज्जैन और महाराष्ट्र से लगे जिलों में कोरोना से प्रभावित प्रकरणों की संख्या बढ़ रही है। प्रदेश में किसी भी हालत में स्थिति को बिगड़ने नहीं दिया जाए। महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना निगेटिव की रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा। इसकी जवाबदारी बस ऑपरेटरों की होगी। बस ऑपरेटर रिपोर्ट के आधार पर ही यात्रियों को बस में प्रवेश दें। राज्य की सीमा पर पुख्ता चैकिंग की व्यवस्था की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि महाराष्ट्र सीमा से लगे सभी जिलों पर लगातार निगरानी रखी जाए।

स्कूल, कॉलेजों में जागरूकता पर ध्यान दें

मुख्यमंत्री ने उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा और स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी शासकीय तथा गैर-शासकीय शैक्षणिक संस्थाओं में मास्क का उपयोग अनिवार्य किया जाए। इसके लिए जागरूकता अभियान भी चलाएँ।


सामाजिक संगठन दें टीकाकरण केन्द्रों पर सुविधाएँ

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकाकरण केन्द्रों पर सभी आवश्यक सुविधाएँ सुनिश्चित की जाएँ। बुजुर्गों सहित सभी व्यक्तियों के बैठने की व्यवस्था, शेड, पेयजल, व्हील-चेयर और टीकाकरण के बाद ऑब्जर्वेशन के लिए पर्याप्त व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जाये। उन्होंने सामाजिक संगठनों से टीकाकरण केन्द्रों पर चाय, पानी, शरबत आदि की व्यवस्था करने की अपील की।

टीकाकरण के साथ दें मार्गदर्शी कार्ड

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिनका टीकाकरण हो रहा है, उन्हें प्रमाण-पत्र के साथ-साथ एक मार्गदर्शी कार्ड भी उपलब्ध कराया जाए, जिसमें अगले टीकाकरण की तिथि, सामान्य जानकारियाँ और आवश्यक सावधानियों के संबंध में उल्लेख हो।

 

इसे भी पढ़ें: शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

मार्च अंत तक 5595 केन्द्रों पर होगा टीकाकरण

बैठक में जानकारी दी गई कि वर्तमान में 469 केन्द्रों पर टीकाकरण जारी है। ग्यारह मार्च से 1808 केंद्रों पर टीकाकरण आरंभ हो जाएगा और इस माह के अंत तक 5595 केंद्रों पर टीकाकरण की सुविधा का विस्तार किया जाएगा। अब तक 3 लाख 66 हजार 528 हेल्थ केयर वर्कर्स और 3 लाख 2 हजार 165 फ्रंट लाईन वर्कर्स को प्रथम डोज़ का टीका लग चुका है। साठ साल से अधिक आयु वर्ग के प्राथमिकता वाले आयु समूह के एक लाख 3 हजार 911 व्यक्तियों को भी टीका लगाया जा चुका है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 5, 2021   23:48
  • Like
शहीद लक्ष्मीकांत द्विवेदी का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

छोटी उम्र में उन्होंने भारत माता की सेवा में अपने प्राण न्यौछावर कर दिये हैं। उनके परिवार की पूरी देखरेख की जायेगी। शहीद द्विवेदी को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि हमें स्वर्गीय द्विवेदी के जाने का दुःख है, तो उनकी शहादत पर गर्व भी है।

भोपाल। छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में शहीद हुए मध्य प्रदेश के रीवा जिले के ग्राम बरछा ककरहा के वीर सपूत लक्ष्मीकांत द्विवेदी का शुक्रवार को उनके गृह ग्राम में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ओर से पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल ने शहीद को श्रद्धा सुमन अर्पित किये। उन्होंने शहीद के घर जाकर परिजनों को सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि शहीद के परिवार को मध्य प्रदेश सरकार की ओर से एक करोड़ रुपये की राशि, एक मकान तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जायेगी।

 

इसे भी पढ़ें: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा किसान सम्मेलन के नाम पर नौटंकी कर रहे दिग्विजय सिंह

उन्होंने कहा कि वीर सपूत लक्ष्मीकांत द्विवेदी ने अदम्य साहस का परिचय दिया। उनकी शहादत को हम सब नमन करते हैं। मध्य प्रदेश सरकार वीर सपूत के परिजनों के साथ खड़ी है। परिवार की सुरक्षा और देखभाल की जिम्मेदारी हमारी है। शहीद लक्ष्मीकांत की शहादत की खबर सुनकर मुख्यमंत्री चौहान ने मुझे, पूर्व मंत्री तथा विधायक राजेन्द्र शुक्ल, विधायक श्यामलाल द्विवेदी तथा विधायक प्रदीप पटेल को भेजा है।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना के 457 मरीज मिले, इंदौर में सबसे अधिक 176 कोरोना संक्रमित मिले

सांसद जनार्दन मिश्र ने वीर सपूत को श्रद्धा सुमन अर्पित किये। उन्होंने कहा कि विन्ध्य के सपूत ने हम सबका मान बढ़ाया है। छोटी उम्र में उन्होंने भारत माता की सेवा में अपने प्राण न्यौछावर कर दिये हैं। उनके परिवार की पूरी देखरेख की जायेगी। शहीद द्विवेदी को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि हमें स्वर्गीय द्विवेदी के जाने का दुःख है, तो उनकी शहादत पर गर्व भी है। उन्होंने भारत माँ की सेवा में नक्सलियों से संघर्ष करते हुए अपने प्राणों का बलिदान किया है। विन्ध्य के सपूत का यह बलिदान सदैव याद रखा जायेगा। उनके परिवार को सरकार की ओर से हर संभव सहायता दी जायेगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा किसान सम्मेलन के नाम पर नौटंकी कर रहे दिग्विजय सिंह

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 5, 2021   23:32
  • Like
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा किसान सम्मेलन के नाम पर नौटंकी कर रहे दिग्विजय सिंह

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हमारा कार्यकर्ता बूथ पर मजबूती के साथ काम करता है, जिसके कारण हम हर चुनाव जीतते हैं। यही कारण है कि आज एक सामान्य कार्यकर्ता पंच-सरपंच से लेकर प्रधानमंत्री पद पर है।

भोपाल। कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह की जनता के बीच विश्वसनीयता नहीं है। वह खुद कहते हैं कि वह प्रचार पर जाएंगे तो कांग्रेस के वोट कटेंगे। वहीं दिग्विजय सिंह आज प्रदेश में घूम-घूम कर गैर राजनीतिक किसान सम्मेलन के नाम पर नौटंकी कर रहे हैं। जनता उन्हें बेहतर समझती है और इसलिए मध्य प्रदेश का किसान उनके बहकावे में नहीं आने वाला। यह बात भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने शुक्रवार को रतलाम संगठनात्मक प्रवास के दौरान पत्रकार-वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कृषि कानून को लेकर किसान संगठनों से लगातार चर्चा कर रही है। लेकिन विपक्षी दल खासकर कांग्रेस किसानों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे हैं।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में कोरोना के 457 मरीज मिले, इंदौर में सबसे अधिक 176 कोरोना संक्रमित मिले

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि भाजपा सामूहिक नेतृत्व के आधार पर टीम भावना से काम करती है। हमारा दल व्यक्तिनिष्ठ नहीं है, भाजपा एक विचार है। भाजपा की कार्यपद्धति है, उस कार्यपद्धति के साथ कौन सा कार्यकर्ता किस काम के लिए उपयुक्त है यह सामुहिकता के साथ निर्णय होगा और जो कार्यकर्ता निकलकर आएंगे वही चुनाव लड़ेंगे। नगरीय निकाय चुनाव में जीत ही मापदंड है, जो कार्यकर्ता चुनाव जीतेंगे, वहीं चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि ताकत के साथ आने वाले नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा जीत का इतिहास बनायेगी। संगठनतंत्र की मजबूती के आधार पर और सरकार के जनकल्याणकारी कामों के आधार पर भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ चुनाव जीतेगी।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में अब आदिम जाति कल्याण विभाग का नाम जनजातीय विभाग हुआ

विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी। तब से लगातार मध्य प्रदेश और खासकर रतलाम के विकास को अमलीजामा पहनाने का काम किया गया। हमारे जनप्रतिनिधि सामाजिक भूमिका के साथ लगातार कार्य कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बजट में मध्य प्रदेश सरकार ने रतलाम को कई सौंगाते दी हैं। आने वाले समय में रतलाम में एयरपोर्ट बने, इसका प्रावधान किया गया। सड़क और ओवरब्रीज के लिए 75 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए हैं। आंतरिक सड़कों के लिए साढ़े 8 करोड़ का प्रावधान है। शहर के अन्य कार्यों एवं मार्गों के लिए 7 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है। शहरी पेयजल योजना के तहत 23 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

 

इसे भी पढ़ें: रायसेन में खनिज विभाग ने रेत का अवैध परिवहन करते 5 ट्रेक्टर ट्राली पकड़े

उन्होंने रतलाम शहर की जनता को बधाई देते हुए कहा कि आज रतलाम के जनप्रतिनिधियों के प्रयास से मेडिकल कॉलेज आरंभ हो गया है। नीमच और मंदसौर के अंदर भी मेडिकल कॉलेज स्वीकृत हो गया है। बड़ी खुशी की बात है कि इस क्षेत्र के तीनों जिलों में मेडिकल कॉलेज होंगे। यह सब भारतीय जनता पार्टी की सरकार की देन है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत वन डिस्ट्रीक्ट, वन प्रॉडक्ट दिया है। रतलाम में पहले ही नमकीन का क्लस्टर शुरू हो गया है। क्षेत्र के विकास के लिए मुख्यमंत्री जी लगातार प्रयास कर रहे हैं।

 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री चौहान ने जन्मदिन के एक दिन पहले की अपील, कैबिनेट मंत्रियों ने दी शुभकामनाएं

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हमारा कार्यकर्ता बूथ पर मजबूती के साथ काम करता है, जिसके कारण हम हर चुनाव जीतते हैं। यही कारण है कि आज एक सामान्य कार्यकर्ता पंच-सरपंच से लेकर प्रधानमंत्री पद पर है। उन्होंने कहा कि देश के लिए हम क्या कर सकते हैं, हमारे प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और जनप्रतिनिधि लगातार काम करते हैं। गरीब कल्याण का हमने सिर्फ नारा नहीं दिया, बल्कि गरीबों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने का काम धरातल पर हमारी सरकारें कर रही हैं।

 

इसे भी पढ़ें: देश में इंदौर नगर निगम का काम नम्बर वन, भोपाल तीसरे स्थान पर

उन्होंने कहा कि भारत ने स्वास्थ्य सेवाओं में विश्व में इतिहास रचने का काम किया है। उज्जवला योजना जैसी अनेक योजनाएं हैं जिनके द्वारा रतलाम सहित हम पूरे देश में आगे कदम बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और पूरा नेतृत्व एक संकल्प के साथ काम कर रही है। उनके कार्यों को भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता बूथ स्तर पर पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने जन्मदिन पर प्रत्येक कार्यकर्ता से प्रतिदिन पौधा लगाने का जो संकल्प व्यक्त किया है वह पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक बड़ा कदम है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept