गुजरात और महाराष्ट्र में फंसे अपने कामगारों को लाने में लगी ओडिशा सरकार, उद्धव ठाकरे और विजय रूपानी से की बात

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2020   09:46
गुजरात और महाराष्ट्र में फंसे अपने कामगारों को लाने में लगी ओडिशा सरकार, उद्धव ठाकरे और विजय रूपानी से की बात

नवीन पटनायक ने विजय रूपानी और ठाकरे से उनके राज्यों में फंसे उड़िया कामगारों की सुरक्षित वापसी की व्यवस्था करने का अनुरोध किया। चर्चा के दौरान फैसला हुआ कि ओडिशा के वरिष्ठ अधिकारी गुजरात और महाराष्ट्र के अधिकारियों से उड़िया कामगारों की वापसी के लिए समन्वय करेंगे।

भुवनेश्वर। कोरोना वायरस की महामारी को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन की वजह से विभिन्न राज्यों में फंसे उड़िया कामगारों को वापस लाने के लिए ओडिशा सरकार ने पहल की है। वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को बताया कि सरकार गुजरात और महाराष्ट्र में फंसे अपने कामगारों को सम्मानजनक तरीके से लाने के लिए ठोस कदम उठाएगी। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस मुद्दे पर महराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये चर्चा की। इस चर्चा में केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी शामिल हुए।

इसे भी पढ़ें: ओडिशा में कोरोना वायरस के पांच नए मामले आए सामने, संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 108 हो गई

पटनायक ने रूपानी और ठाकरे से उनके राज्यों में फंसे उड़िया कामगारों की सुरक्षित वापसी की व्यवस्था करने का अनुरोध किया। चर्चा के दौरान फैसला हुआ कि ओडिशा के वरिष्ठ अधिकारी गुजरात और महाराष्ट्र के अधिकारियों से उड़िया कामगारों की वापसी के लिए समन्वय करेंगे। उल्लेखनीय है कि ओडिशा के करीब पांच लाख प्रवासी कामगार देशभर में लॉकडाउन की वजह से फंसे हैं जिनमें से अधिकतर गुजरात में खासतौर पर सूरत में और महाराष्ट्र के विभिन्न इलाकों में हैं। अधिकारी ने बताया कि फंसे हुए प्रवासी कामगारों को मुख्य रूप से बसों से लाया जाएगा लेकिन परिवहन के अन्य साधनों पर भी विचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जो लोग ओडिशा आने के इच्छु प्रवासियों को अपना नाम और पता राज्य सरकार की वेबसाइट सीओवीआईडी19 डॉट ओडीआईएसएचए डॉट जीओवी डॉट इन पर पंजीकृत कराना होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...