मनोज तिवारी के नेतृत्व में दिल्ली का चुनाव लड़ेगी BJP ? बयान से क्यों पलटे पुरी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2019   09:14
मनोज तिवारी के नेतृत्व में दिल्ली का चुनाव लड़ेगी BJP ? बयान से क्यों पलटे पुरी

भाजपा ने राष्ट्रीय राजधानी में आगामी विधानसभा चुनावों के लिये किसी को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित नहीं किया है।

नयी दिल्ली। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने रविवार को कहा कि भाजपा दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रदेश इकाई प्रमुख मनोज तिवारी के नेतृत्व में लड़ेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि वह मुख्यमंत्री बनें, हालांकि कुछ ही घंटों बाद उन्होंने अपना बयान वापस ले लिया। पुरी ने कहा, ‘‘हम लोग मनोज तिवारी के नेतृत्व में दिल्ली विधानसभा का चुनाव लड़ने जा रहे हैं और हम यह सुनिश्चित करेंगे कि वह (तिवारी) मुख्यमंत्री बनें।’’

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में भाजपा के मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनने का कोई इरादा नहीं: हरदीप पुरी

पुरी विधानसभा चुनावों के लिये दिल्ली के सह-प्रभारी भी हैं। भाजपा ने राष्ट्रीय राजधानी में आगामी विधानसभा चुनावों के लिये किसी को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। पुरी के इस बयान को लपकने में आम आदमी पार्टी ने जरा भी देरी नहीं लगाई। आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि मुकाबला अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और तिवारी के बीच है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट करते हुए तिवारी पर निशाना साधते हुए उन्हें विधानसभा चुनावों के लिये भाजपा का मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर बधाई दी। 

केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री पुरी ने हालांकि अपने पूर्व में दिये बयान से किनारा करते हुए कहा कि उनके बयान का आशय यह था कि भाजपा तिवारी के नेतृत्व में जीतेगी। पुरी ने ट्वीट किया, “भाजपा दिल्ली में जीत की ओर बढ़ रही है। पार्टी ने अब तक किसी को मुख्यमंत्री पद के लिये नामित नहीं किया है। मनोज तिवारी प्रदेश पार्टी अध्यक्ष हैं और वह काफी मेहनत कर रहे हैं। मेरे बयान का मतलब यह है कि भाजपा उनके नेतृत्व में आगामी चुनावों में बड़े जनादेश से जीतेगी।” वहीं दूसरी तरफ तिवारी ने कहा कि 2017 के दिल्ली नगर निगम चुनाव और 2019 के संसदीय चुनाव उनके नेतृत्व में जीते गए थे। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में दूषित जल ने मचाई सियासी हलचल, CM आवास पर 500 पानी के सैंपल सौपेंगे बीजेपी नेता

उन्होंने कहा, “यह सुनिश्चित करना मेरी जिम्मेदारी है कि भाजपा अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में जीत हासिल करे। भाजपा का शीर्ष नेतृत्व वहां के पार्टी कार्यकर्ताओं को विश्वास में लेकर राज्य में मुख्यमंत्री के बारे में फैसला करता है।” गुटबाजी से जूझती भाजपा किसी मुख्यमंत्री उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं करने को लेकर सजग है। वहीं पुरी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए आप के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली के लोगों के लिये चयन बेहद आसान कर दिया है। 

सिंह ने संवाददाताओं से कहा, “यह बेहद स्पष्ट पसंद है, दिल्ली के लोग किसे चाहते हैं। क्या वे मनोज तिवारी को चाहते हैं जिन्होंने दिल्ली सरकार द्वारा जनता के लिये शुरू की गई जनउपयोगी नीतियों का विरोध किया या केजरीवाल को जो पूरी तरह उनके प्रति समर्पित हैं।” सिंह ने ट्वीट किया कि भाजपा वालों ने मनोज तिवारी को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित कर दिया है और अब अरविंद केजरीवाल 2015 का भी रिकार्ड तोड़ेगें।

इसे भी पढ़ें: साइकिल चलाकर संसद पहुंचे भाजपा सांसद मनोज तिवारी

एक अन्य ट्वीट में सिंह ने कहा, “आदरणीय हरदीप पुरी जी दिल्ली की जनता जानना चाहती है कि अरविंद केजरीवाल जी के सामने आपका चेहरा कौन है? आपने तिवारी जी का नाम बताया भी और 2 घंटे में मैदान छोड़ कर भाग गये, क्या चुनाव से बीजेपी ने केजरीवाल को वॉक ओवर दे दिया है?” आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि अब मुकाबला “अरविंद केजरीवाल बनाम मनोज तिवारी” होगा। 

उन्होंने ट्वीट किया, “आगामी दिल्ली चुनावों के लिये मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम का ऐलान करने की भाजपा की पहल का हम स्वागत करते हैं। अब मुकाबला तय है, यह अरविंद केजरीवाल बनाम मनोज तिवारी होगा। याद रखिये वही मनोज तिवारी जिन्होंने सम-विषम योजना का विरोध किया, महिलाओं के लिए मुफ्त बस यात्रा का विरोध किया और बिजली का शुल्क बढ़ाना चाहते थे।”  





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।