मध्य प्रदेश में कृषि कानून के विरोध में युवा कांग्रेस ने निकाली मशाल आक्रोश रैली

मध्य प्रदेश में कृषि कानून के विरोध में युवा कांग्रेस ने निकाली मशाल आक्रोश रैली

भोपाल के साथ ही जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर, सागर, रीवा, विदिशा, रायसेन, सीहोर सहित सभी जिलों में एक ही दिन एक ही समय पर मशाल आक्रोश रैली आयोजित की गई।

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में युवा कांग्रेस ने कृषि कानून के विरोध में मशाल आक्रोश रैली निकाली। युवा कांग्रेस के प्रदेश मीडिया अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने बताया कि युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास व्ही बी के निर्देशानुसार बुधवार को सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में किसानों के ऊपर थोपे जा रहे काले कानून के रूप में मोदी सरकार का कृषि बिल इसके विरोध में मशाल आक्रोश रैली निकाली गई। जिसका नेतृत्व युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने किया।

 

इसे भी पढ़ें: बेटी को मेडिकल कालेज में दाखिला दिलाने के नाम पर डॉक्टर से ही ठगी

प्रदेश की राजधानी भोपाल में बोगदा पुल से प्रभात पेट्रोल पंप चौराहे तक मशाल आक्रोश रैली निकाली गई। जिसमें युवा कांग्रेस के पदाधिकारियों सहित सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए। यह मशाल आक्रोश रैली भोपाल के जिला महासचिव विजय मिश्रा एवं अहमद खान द्वारा आयोजित की गई। जिसमें मुख्य रूप से संभाग के प्रभारी शेषनारायण ओझा, मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी, प्रदेश महासचिव अभिषेक परमार, सचिव अनिल मिश्रा, जिला उपाध्यक्ष गौरव, नरेला विधानसभा अध्यक्ष आतिफ अली आदि पदाधिकारीगण एवं सैकड़ो की संख्या में कार्यकर्ताओं ने कोरोना गाईडलाइन का पालन करते हुए हिस्सा लिया। 

इसे भी पढ़ें: अस्पताल से 14 वर्षीय बालिका का अपहरण, आरोपी निकला प्रेमी एक घंटे के अंदर गिरफ्तार

वही भोपाल के साथ ही जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर, सागर, रीवा, विदिशा, रायसेन, सीहोर सहित सभी जिलों में एक ही दिन एक ही समय पर मशाल आक्रोश रैली आयोजित की गई। इस रैली के माध्यम से किसानों पर कृषि कानून के नाम पर थोपे जा रहे काले कानून के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर लंबे समय से धरना दे रहे किसानों को अपना समर्थन दिया गया। मशाल आक्रोश रैली के दौरान युवा कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार को चेतावनी दी कि जल्द ही किसानों की मांगों को नहीं माना गया, तो मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के नेतृत्व में प्रदेश का किसान भी दिल्ली के लिये रवाना होगा और हजारों की संख्या में दिल्ली जा कर किसानों को समर्थन देंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...