Sports Highlights: टोक्यो पैरालिंपिक में कैनोइंग स्प्रिंट के सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय खिलाड़ी प्राची यादव

Sports Highlights: टोक्यो पैरालिंपिक में कैनोइंग स्प्रिंट के सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय खिलाड़ी प्राची यादव

तोक्यो पैरालंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा के दूसरे दिन पुरुष एकल एसएल4 वर्ग में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों सुहास यथिराज और तरूण ढिल्लों ने अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की। वहीं दूसरी ओर भारत की प्राची यादव ने तोक्यो पैरालंपिक की महिला ‘वा’ एकल 200 मीटर कैनोइंग स्प्रिंट स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया।

तोक्यो पैरालंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा के दूसरे दिन पुरुष एकल एसएल4 वर्ग में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों सुहास यथिराज और तरूण ढिल्लों ने अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की। वहीं दूसरी ओर भारत की प्राची यादव ने तोक्यो पैरालंपिक की महिला ‘वा’ एकल 200 मीटर कैनोइंग स्प्रिंट स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। 

तोक्यो पैरालंपिक: बैडमिंटन में सुहास यथिराज और तरूण जीते, पलक और पारूल की जोड़ी हारी

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों सुहास यथिराज और तरूण ढिल्लों ने गुरुवार को यहां तोक्यो पैरालंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा के दूसरे दिन पुरुष एकल एसएल4 वर्ग में अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की। ग्रुप ए के एकतरफा मुकाबले में 38 साल के सुहास ने सिर्फ 19 मिनट में जर्मनी के येन निकलास पोट को 21-9 21-3 से हराया। ग्रुप बी में 27 साल के तरूण को भी अधिक पसीना नहीं बहाना पड़ा और वह थाईलैंड के सिरीपोंग तेमारोम को सिर्फ 23 मिनट में 21-7 21-13 से हराने में सफल रहे। अगले मुकाबले में सुहास का सामना इंडोनेशिया के हैरी सुसांतो से होगा जबकि तरूण को शुक्रवार को कोरिया के शिन क्युंग ह्वान से भिड़ना है।

Tokyo Paralympic: भारत की प्राची यादव ने कैनोइंग स्प्रिंट सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया

भारत की प्राची यादव ने गुरुवार को यहां तोक्यो पैरालंपिक की महिला ‘वा’ एकल 200 मीटर कैनोइंग स्प्रिंट स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। भोपाल की 26 साल की प्राची ने यहां सी फॉरेस्ट वाटरवे में एक मिनट 11.098 सेकेंड का समय लिया। वह ग्रेट ब्रिटेन की एमा विग्स से 13.014 सेकेंड पीछे रही जिन्होंने 58.084 सेकेंड का समय लिया।

ताइक्वांडो खिलाड़ी अरुणा पैरालंपिक के क्वार्टर फाइनल में हारीं, रेपेचेज दौर में किया प्रवेश

भारत की अरूणिमा तंवर को तोक्यो पैरालंपिक की महिला ताइक्वांडो के44-49 किग्रा स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में पेरू की चौथी वरीय एस्पिनोजा कारांजा के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी लेकिन वह रेपेचेज दौर में जगह बनाकर पदक की दौड़ में बनी हुई हैं। भारत की 12वीं वरीय अरूणिमा के पास पेरू की प्रतिद्वंद्वी का कोई जवाब नहीं था और उन्हें एकतरफा मुकाबले में 21-84 से हार झेलनी पड़ी। के44 वर्ग में वे खिलाड़ी होते हैं जिनका एक हाथ नहीं होता (या अंग के संचालन में समान समस्या) या पैर के आगे के हिस्से में दिक्कत होती है जिससे टखना उठाने की क्षमता प्रभावित होती है।

निशानेबाज राहुल जाखड़ पी3 मिश्रित 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में पांचवें स्थान पर रहे

भारतीय निशानेबाज राहुल जाखड़ गुरूवार को यहां पैरालंपिक खेलों की पी3 मिश्रित 25 मीटर पिस्टल एसएच1 स्पर्धा में पांचवें स्थान पर रहे। पैंतीस साल के जाखड़ फाइनल्स में सातवीं सीरीज खत्म होने के बाद बाहर हो गये। उन्होंने क्वालीफाइंग में 576 के स्कोर से दूसरे स्थान पर रहकर फाइनल्स के लिये क्वालीफाई किया था जिसमें प्रिसिजन में 284 और रैपिड चरण में 292 अंक थे। यह अभी तक उनका सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शन है। एसएच1 पिस्टल स्पर्धा में निशानेबाजों की रीढ़ की हड्डी में चोट या फिर हाथ या पैर के काटे जाने के कारण एक हाथ या पैरों में विकार होता है। अन्य भारतीयों में आकाश क्वालीफिकेशन में 551 (प्रिसिजन में 278 और रैपिड में 273) के अंक से 20वें स्थान पर रहने के कारण फाइनल के लिये क्वालीफाई नहीं कर सके।

टूर्नामेंट में निजी कोच अहंकार के लिये नहीं ,बल्कि यह खेल की आधारभूत जरूरत है: मनिका

स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा का मानना है कि निजी कोच रखना व्यक्तिगत खेल खेलने वाले एथलीट के लिये आधारभूत जरूरत है और अगर उन्हें तोक्यो ओलंपिक के दौरान कोर्ट पर अपने कोच की मदद मिल जाती तो उनका प्रदर्शन बेहतर होता। मनिका ने कहा कि अधिकारियों को ओलंपिक जैसे कई स्पर्धाओं के टूर्नामेंट में खिलाड़ियों के साथ निजी कोचों के जाने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए जिसमें भारतीय टेबल टेनिस महासंघ (टीटीएफआई) के अधिकारी भी शामिल हैं। दुनिया की 56वें नंबर की खिलाड़ी ने कहा, ‘‘टीम स्पर्धाओं के लिये मुख्य कोच ठीक हैं लेकिन हमारे खेल में एकल स्पर्धा भी होती है जिसमें निश्चित रूप से खिलाड़ी को अपने कोच की जरूरत होती है क्योंकि वह खिलाड़ी की ट्रेनिंग और खेल के बारे में ज्यादा जानता है।’’