लॉकडाउन में केवल कुटाई ही नहीं भावनाओं की कद्र भी कर रही है पुलिस, बुजुर्ग को ऐसे दिया सरप्राइज़

लॉकडाउन में केवल कुटाई ही नहीं भावनाओं की कद्र भी कर रही है पुलिस, बुजुर्ग को ऐसे दिया सरप्राइज़

बुजुर्ग करन पुरी लॉकडाउन के कारण अपने परिवार के पास न जा सकें। पंचकुला के एक फ्लैट में वह अकेले रह रहे थे। लॉकडाउन के कारण इनके बच्चे घर न आ सके और ये खुद भी उनके पास न सके।

कोरोना वायरस की महामारी के कारण देश में जिस तरह के मुश्किल हालात हैं उससे निपटने के लिए सरकार हर मुमकिन प्रयास कर रही हैं। कोरोना के खिलाफ इस जंग में सरकार सहित देश का हर इंसान अपने-अपने स्तर पर युद्ध कर रहा है। जहां लोकडाउन ने पास रह रहे लोगों के बीच दूरियां बढ़ा दी हैं वहीं दूर बैठे अपनो की अहमियत बता दी है। लॉकडाउन के कारण देश में हर तरह की अवाजाही बंद है। कुछ खुशनसीब थे जो समय रहते हुए अपनो के पास चले गये कुछ ऐसे भी है जो इस समय कोसो दूर अपनो के बगैर अपने घरों में कैद हैं। उनमें से ही एक हैं हरियाणा के पंचकुला के सेक्टर सात में रहने वाले करन पुरी। बुजुर्ग करन पुरी लॉकडाउन के कारण अपने परिवार के पास न जा सकें। पंचकुला के एक फ्लैट में वह अकेले रह रहे थे। लॉकडाउन के कारण इनके बच्चे घर न आ सके और ये खुद भी उनके पास न सके।

 

इसे भी पढ़ें: कोटा से वापस आए छात्र-छात्राओं से योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की बात

करन पुरी का 28 अप्रैल को जन्मदिन होता है और उनके इस जन्मदिन को हरियाणा पुलिस ने खास बनया है। दरअसल पंचकूला पुलिस कमिश्नर सौरभ सिंह से बुजुर्ग के परिवार ने वालों ने एक संदेश लिखकर प्रार्थना की थी कि उनके पिता घर में अकेले हैं और आज उनका जन्मदिन है कृप्या उनके पास एक केक भेज दीजिए वह थोड़ा खुश हो जाएंगे। पंचकुला की पुलिस ने उनका ये अनुरोध कबूल किया और करन पुरी को जन्मदिन की शुभकामना देते हुए अपनी टीम के हाथों केक भेज दिया। पंचकूला महिला थाना प्रभारी नेहा चौहान की टीम बुजुर्ग के घर केक लेकर पहुंची और जन्मदिन मनाया। केक लेकर पहुंची टीम को देखकर बुजुर्ग करन पुरी भावुक हो गए और रो पड़े। 

यहां देखें पुलिस की टीम जब बुजुर्ग करन पुरी के घर पहुंची तो क्या हुआ

इंसानियत और भावनाओं की कद्र करता पुलिस का यह कदम एक वीडियो में कैद कर लिया गया। ये वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।